स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आचार संहिता का उल्लंघन करने पर सीज हुआ वाहन तो रोने लगे कांग्रेस प्रत्याशी, दारोगा पर लगाया मारपीट का आरोप

Sarweshwari Mishra

Publish: Oct 11, 2019 09:38 AM | Updated: Oct 11, 2019 09:38 AM

Mau

चुनाव आयोग और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया

मऊ. घोसी विधानसभा उपचुनाव में चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए पाये जाने पर गुरुवार को जब कांग्रेस प्रत्याशी का वाहन सीज किया गया तो वो फूट फूट कर रोने लगा और पैदल मार्च निकाला, जिसका समर्थकों ने समर्थन कर चुनाव आयोग और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया।

कांग्रेस प्रत्याशी राजमंगल यादव ने आरोप लगाया कि उनको कोतवाली के एक दरोगा ने मारा पीटा गया, जिस कारण आखों से आसूंओं की धारा बहने लगी। इसके साथ ही यह भी आरोप लगाया कि भाजपा के वाहनों पर कार्रवाई नहीं की जा रही है, जबकि कांग्रेस के गाड़ियों को साजिश के तहत निशाना बनाया जा रहा है।

बता दें कि कांग्रेस प्रत्याशी राजमंगल यादव जब चुनाव प्रचार के लिए अपने चार गाड़ियों के काफिला लेकर निकले, तो स्टेटिक मजिस्ट्रेट और फ्लाईग मजिस्ट्रेट ने उनके काफिले को घोसी कोतवाली के बड़ागांव के पास रोक लिया। इसके साथ ही जांच पड़ताल के दौरान गाड़ियों से कई चुनाव आचार संहिता उलंघनन करने वाले सामान मिले। जिसके बाद तत्काल ही कार्रवाई करते हुए उनके वाहनों को सीज कर दिया गया। जिसके बाद प्रत्याशी के समर्थक हंगामा करने लगे।

इसी बीच काग्रेस प्रत्याशी राजमंगल ने आरोप लगाया कि उनके साथ कोतवाली के एक दरोगा ने मारपीट की। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके खिलाफ जब कार्रवाई की जा रही थी, उसी समय भाजपा प्रत्याशी विजय राजभर का भी काफिला निकला, जिसमें लगभग 40 गाड़ियां शामिल थी, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। काफिले के अंतिम वाली गाड़ी को जब हमारे समर्थकों ने रोका लिया, तब जाकर भाजपा के एक वाहन पर कार्रवाई किया गया। उन्होंने इस मामले को लेकर चुनाव आयोग में जाने की चेतावनी भी दिया।

इस मामले पर क्षेत्राधिकारी घोसी अभिषेक कन्नौजिया ने बताया कि स्टेटिक मजिस्ट्रेट और फ्लाईग मजिस्ट्रेट द्वारा घोसी विधानसभा चुनाव में आचार संहिता उल्लंघन मामले पर कार्रवाई की जा रही।