स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मऊ जिले के 6500 शस्त्र लाइसेन्स का हो रहा वेरीफिकेशन, कमी मिलने पर होगा निरस्त

Ashish Kumar Shukla

Publish: Jan 24, 2020 17:38 PM | Updated: Jan 24, 2020 17:38 PM

Mau

बाहुबली विधायक मुख्तार के लेटरपैड पर 04 फर्जी शस्त्र लाइसेंस का मामला सामने आने के बाद कार्यवाही में आयी तेजी

मऊ. बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के लेटरपैड पर चार अवैध शस्त्र लाइसेंस बनाये जाने का मामला प्रकाश में आने के बाद हङकंप मच गया था। इसी के बाद ही पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जिले में सभी शस्त्र लाइसेन्स का वेरीफिकेशन कराया जा रहा है। 31 जनवरी तक पुलिस लाइन में पहुंचकर सभी लाइसेन्स धारकों को वेरिफिकेशन कराने का निर्देश दिया है।

बतादें कि पिछले 20 दिन पूर्व एक शिकायत पत्र के अनुसार सदर बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के लेटरपैड पर वर्ष 2001 में फर्जी पता देकर चार लोगों का शस्त्र लाइसेंस बन गया था। इस मामलें में पुलिस ने मुख्तार अंसारी के साथ ही अन्य दोषीयों के खिलाफ मुकदर्मा दर्ज किया और दो लोगों को जेल भेजने की कार्य़वाही भी किया। साथ ही जिले के सभी शस्त्र लाइसेन्सों की जांच पङताल के लिए टीम गठित कर अभियान शुरु कर दिया।

यह अभियान 31 जनवरी तक चलेगा। इस अभियान के तहत लाइसेन्स धारकों को निर्देश दिया गया है कि वह पुलिस लाइन में पहुंचकर अपने शस्त्र लाइसेन्स की जांच करा ले। इस दौरान यदि कोई जांच नही कराता है, तो उसके एक बार और समय दिया जायेगा। इसके बाद जांच करा कर उसका लाइसेन्स निरस्त कर दिया जायेगा। साथ ही अपराधी प्रवृत्ति के व्यक्तियों को भी चिन्हित किया जा रहा है ताकि उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जा सके।

पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि जिले में साढे 6 हजार शस्त्र लाइसेन्स हैं। अभी तक एक हजार शस्त्रों के कागजात की जांच कराई जा सकी है। 31 जनवरी तक पुलिस लाइन में जांच किया जायेगा। इस दौरान जिसका भी लाइसेन्स अवैध या फिर कोई अपराधिक प्रवित्ति का होगा, उसका निरस्त कर कनूनी कार्य़वाही की जायेगी। पुलिस के निर्देश के बाद पुलिस लाइन में पहुच कर शस्त्र धारी अपने लाइसेंस का जांच करा रहे है।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]