स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जमीनी रंजिश में भतीजे ने ही की थी चाचा की हत्या

Amit Sharma

Publish: Jul 19, 2019 21:54 PM | Updated: Jul 19, 2019 21:54 PM

Mathura

-थाना फरह में हत्योरोपी की दर्ज थी गुमशुदगी
-इसी का फयदा उठाने के लिए की थी चाचा की हत्या
-मृतक की गांव के ही कुछ लोगों से चल रही थी मुकदमे बाजी

मथुरा। थाना फरह पुलिस द्वारा दिनाँक 27 जून की रात्रि में घेर पर सो रहे व्यक्ति की धारदार हथियार से हत्या कर दिये जाने के मामले में एक आरोपी को किया गिरफ्तार। थाना फरह के ग्राम झुड़ावई में घेर पर सो रहे दिलीप सिंह की धारदार हथियार से हत्या कर दी गयी थी। जिसके सम्बन्ध में मृतक के बेटे गोविन्द ने अज्ञात में थाना फरह में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसएसपी षलभ माथुर ने इस मामले के जल्द खुलासे की जिम्मेदारी एसओ फरह को सौंपी थी। एक महीने से कम समय में इस पेचादा हत्याकांड की गुत्थो सुलझा कर फरह पुलिस ने एक हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया। प्रभारी निरीक्षक फरह उत्तम चंद ने टीम के साथ रात्रि 2.30 बजे इन्द्रदेव उर्फ इन्द्रजीत पुत्र स्व. जवाहर सिंह निवासी ग्राम झुडावई थाना फरह को झुडावई के पास से गिरफ्तार किया। अभियुक्त की निशादेही पर हत्या में कुल्हाडी को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।

यह भी पढ़ें- जयपुर पुलिस की आंखों के सामने से नौ दो ग्यारह हो गया चोर

बहुत लम्बा जला बुना हत्योरोपी ने, पुलिस भी रह गई हैरान
हत्यारोपी 45 वर्षीय इन्द्रदेव का अपने चाचा थान सिंह पुत्र कारे सिंह से जमीनी विवाद चल रहा था। जिसको लेकर इन्द्रदेव ने अपनी बेटी व मां की हत्या वर्ष 2011 में थान सिंह व उसके परिवारीजनो को फसाने के लिये की थी। जिसका मुकदमा भी फरह थाने पर पंजीकृत हुआ था। तत्कालीन थाना प्रभारी द्वारा इन्द्रदेव इस मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा था। इन्द्रदेव इस केस में जमानत पर चल रहा है और मामला न्यायालय में विचाराधीन है। थान सिंह व उसकी पत्नी इस मुकदमें में स्वतंत्र साक्षी है। थान सिंह और मृतक दिलीप सिंह के बेटे टीकम सिंह व टीकम सिंह की पत्नी से घर में घुसकर मारपीट सम्बन्धी में मुकदमा भी न्यायालय में चल रहा है। इस मुकदमे में गांव के लोग व रिस्तेदारों द्वारा राजीनामा कराने का प्रयास किया गया था परन्तु थान सिंह ने किसी की बात नहीं मानी। इसी बीच इन्द्रदेव उपरा ने 15 दिसम्बर 2018 को अपने आप को गायब कर अपने बेटे द्वारा अपनी गुमशुदगी लिखाकर अपनी परिचित महिला पत्नी रणधीर सिंह निवासी नदवई जिला भरतपुर राजस्थान के साथ रहने लगा और लुक छिपकर अपने बच्चो व परिवार से मिलता व बात करता रहा। जिसने अपनी गुमशुदगी व थान सिंह व टीकम सिंह को रंजिश का फायदा उठाते हुये थान सिंह को फसाने के उद्देश्य से दिलीप सिंह की हत्या कर फरार हो गया।