स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जन्माष्टमी की तैयारियों में जुटे मुस्लिम समाज के लोग, राधारानी और श्रीकृष्ण की बना रहे पोशाकें

suchita mishra

Publish: Aug 19, 2019 12:59 PM | Updated: Aug 19, 2019 12:59 PM

Mathura

हर वर्ष भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष अष्टमी को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव को मथुरा समेत पूरे देश में धूमधाम से जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है।

मथुरा। हर वर्ष भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष अष्टमी को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव को मथुरा समेत पूरे देश में धूमधाम से जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है। इस बार जन्माष्टमी 24 अगस्त को पड़ रही है। इसको लेकर मथुरा में तैयारियां जोरों पर हैं। खास बात ये है कि मुस्लिम समाज के तमाम लोग भी इन तैयारियों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं और आपसी सौहार्द का संदेश दे रहे हैं। ब्रज के लाला का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाने के लिए मुस्लिम लोग ठाकुरजी को पहनायी जाने वाली पोशाकों का निर्माण कर रहे हैं। ये पोशाकें देश—विदेश में तमाम स्थानों पर भेजी जाएंगी।

दरअसल मथुरा की गलियों में भगवान कृष्ण की पोशाक और मुकुट श्रंगार का कारोबार फैला है। इन कारखानों में तमाम मुस्लिम समाज के लोग काम करते हैं। इन दिनों वे लोग दिन और रात एक करके जन्माष्टमी की तैयारियों में जुटे हुए हैं। इसके लिए वे ठाकुर जी व राधारानी की एक से बढ़कर एक पोशाक तैयार कर रहे हैं, साथ ही उनका मुकुट, गले का हार, पाजेब, चूडिय़ां और कान का कुंडल आदि भी तैयार करने में जुटे हुए हैं।

इस मामले में एक शख्स इमरान मीर का कहना है कि भगवान की पोशाक के लिए वे स्थानीय कपड़े का इस्तेमाल करते हैं। इसे तैयार करने से पहले उसके डिजायन को कागज पर बनाकर स्केच तैयार किया जाता है इसके बाद इसमें जरी, लाल मोती, स्टोन व मखमल आदि की कढ़ाई की जाती है। हर दिन करीब 12 घंटे तक काम किया जाता है।

वहीं कादिर के अनुसार पोशाक में लहंगा, ओढ़नी, पटुका के साथ मुकुट पहनाकर भगवान का श्रंगार किया जाता है। ज्यादातर पोशाक तैयार करते समय जरी, मोती, नग और शीशे का काम किया जाता है। हर साल देश विदेश से जन्माष्टमी के मौके पर तमाम आर्डर मिलते हैं, जिन्हें समय से पूरा करना होता है। इस बार ज्यादातर नीले और सफेद रंग की पोशाकों के निर्माण के आर्डर मिले हैं। विदेशों में अमेरिका, आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, कनाडा, नेपाल, स्वीजरलैंड, अफ्रीका से आर्डर मिले हैं।