स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस मुहूर्त में स्थापित करें गणेश जी

Mangal Singh Thakur

Publish: Sep 01, 2019 12:24 PM | Updated: Sep 01, 2019 12:24 PM

Mandla

तो मिलेगा अतिशुभ फल

मंडला. प्रथम पूज्य श्रीगणेश की अराधना का सिलसिला सोमवार से शुरू होगा। गणेश महोत्सव मनाने के लिए आयोजन समितियों द्वारा पंडाल सजा लिए गए हैं। उदय चौक के राजा की स्थापना को लेकर तैयारियां पूर्ण की गई हैं। नगर में जगह-जगह प्रतिमाओं की स्थापना की तैयारियां की गई हैं। इस बार प्राइवेट बस स्टैंड, बुधवारी, रेडक्रास, सुभाष वार्ड, सिंधी मोहल्ला, आजाद वार्ड, महाराजपुर, कारीकोन तिराहा, बीएसएनएल ऑफिस सहित अन्य स्थानो में सार्वजनिक रूप से प्रतिमाओं की स्थापना की जाएगी। इसके अलावा घरों में भी गणेश प्रतिमाएं स्थापित की जा रही हैं। 10 दिनों तक चलने वाले महोत्सव के दौरान नगर का माहौल धर्ममय बना रहेगा। भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक इस साल ये 2 सितंबर यानी सोमवार को है। 2 सितंबर से 12 सितंबर तक चलने वाले इस उत्सव में हरेक व्यक्ति भगवान गणपति की कृपा पाने का इच्छुक रहता है। किसी भी कार्य को यदि सही मुहूर्त पर सम्पन्न किया जाता है तो कार्य की सफलता व सुख-शांति निश्चित हो जाती है। गणेश चतुर्थी के पावन पर्व पर सोमवार यानी 2 सितंबर को सुबह स्नान कर द्विस्वभाव लग्न कन्या में प्रात 7.10 बजे से सुबह 9.26 तक, चर लग्न तुला मे 9.26 से 11.44 तक या फिर धनु द्विस्वभाव लग्न दोपहर 2.03 से 4.07 बजे तक अथवा चर लगन मकर में शाम 4.08 बजे से 5.50 बजे तक के बीच में इको फ्रेंडली गणेश जी की स्थापना घर, पार्क, पंडाल में करेंगे तो अतिशुभ फल मिलेगी। गणेश भक्तों की टोलियां गणेश उत्सव मनाने की तैयारियों में जुटी हुई हैं। गणेशोत्सव को लेकर बच्चों में खासा उत्साह नजर आ रहा है। शनिवार को भी पंडालों को अंतिम रूप देने समितियों के सदस्य जुटे रहे। हालांकि पंडालो की साज सज्जा तो गणेशोत्सव के दौरान भी चलती रहेगी। हवा पानी से बचाने के लिए भी पंडाल को तैयार किया जा रहा है। मूर्तिकारों ने नायाब कारीगरी कर भगवान गणेश की मूर्तियां तैयार की हैं।