स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां भी डूबने से हो गई थी पांच लोगों की मौत

Mangal Singh Thakur

Publish: Sep 13, 2019 21:07 PM | Updated: Sep 13, 2019 21:07 PM

Mandla

बारात से लौटते समय हुआ था हादसा

मंडला. भारी बारिश के बाद भोपाल के छोटे तालाब स्थित खटलापुरा मंदिर घाट पर नाव पटलने से करीब एक दर्जन लोगों के पानी में डूबने से मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार की भोर में नाव में सवार होकर करीब 19 लोग गणेश वर्सजन करने गए थे। नाव में क्षमता से अधिक लोग बैठने से नाव बीच तालाब में ही पलट गई। सूचना मिलते ही गोताखोरों की टीम मौके पर पहुंच कर डूबे लोगों को निकालने में जुटी रही। लेकिन 12 लोगों की नहीं बचा पाई। बताया गया है कि यह घटना शनिवार की सुबह करीब चार बजे हुआ है। प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। घटना के दौरान साढे चार बजे से पूरी टीम मौके से गायब हो गई। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मजिस्ट्रियल जांच के निर्देश दिए है। दो नाव में 19 लोग सवार होकर कर रहे थे गणेश मूर्ति विसर्जन। पुलिस मुख्यालय के 50 मीटर दूर घटना।
नारायणगंज ब्लॉक के घोंटखेड़ा में पलटी थी नाव
नारायणगंज ब्लॉक के घोंटखेड़ा गांव के ग्रामीण सिवनी जिले के ग्राम बखारी में आयोजित शादी समारोह में शामिल होने के लिए गए थे। बारातियों में घोंटखेड़ा के अलावा बीजाडांडी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम दगला, जमुनिया के लोग भी शामिल थे। ग्रामीण जिस नाव में बैठकर नर्मदा नदी पार कर रहे थे, वह नाव बीच नदी में पलट गई और एक बच्चे सहित चार महिलाओं की मौके पर डूबने से मौत हो गई। नाव में 14 लोग सवार थे, जिनमें से 9 को बचा लिया गया है। लगभग 36 घंटे बाद डूबने वाले सभी लोगों का शव बरामद हो सका था। यहां नाव में 14 बाराती सवार होकर वापस घोंटखेड़ा की ओर लौट रहे थे। बीच नर्मदा में पहुंचते ही नाव पलट गई। इस घटना में भी प्रशासनिक लापरवाही सामने आई थी। जिस स्थान पर नाव का संचालन किया जा रहा थाए वहां पर सुरक्षा के कोई मापदंड नहीं थी। हादसे में जिनकी मृत्यु हुई उनमें 4 महिलाएं और 1 बालक शामिल है। नाव में उस वक्त कुल 14 लोग सवार थे। मृतकों के नाम देवराज पिता नरेश तेकाम 8 वर्ष निवासी डगला, कलावती बाई पति जयसिंह तेकाम 35 डगला, लालती बाई पति नरेश तेकाम 32 डगला, धनिया बाई पति दान सिंह मरावी 50 घोंटखेड़ा, बुद्दो बाई पति महेंद्र मरावी 40 घोंटखेड़ा बताए गए हैं।