स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नोटबंदी की बरसी पर फूंका केन्द्र सरकार का पुतला

Sawan Singh Thakur

Publish: Nov 10, 2019 04:04 AM | Updated: Nov 09, 2019 17:49 PM

Mandla

एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने जमकर की केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी

मंडला। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के जिला अध्यक्ष अखिलेश सिंह ठाकुर के नेतृत्व में नोट बंदी के तीन साल पूरे होने पर केन्द्र सरकार की विफलताओं को लेकर शुक्रवार को शव यात्रा निकाली। जिला अध्यक्ष ने बताया कि केंद्र की मोदी सरकार ने नोट बंदी का फैसला लिया और नोट बंदी के व्यापक दुष्परिणाम सामने आए है। नोट बंदी के बाद देश की अर्थव्यवस्था डगमगा गई है। देश की जीडीपी लगातार गिर रही है, देश मे बैरोजगारी दर 6.83 से बढ़ कर 8.1 पहुंच गई। पूरे देश में 59 लाख नोकरियों नोट बंदी की वजह खत्म हो गई। नोट बंदी का निर्णय पूर्णत: गलत था जो देशहित मे नही बल्कि देश को बर्बादी की ओर ले गया। 8 नवंबर 2016 को की गई इस नोट बंदी की तीसरी बरसी पर केन्द्र की मोदी सरकार के विरोध में शव यात्रा निकाली गई। शव यात्रा नगर के प्रमुख चौराहो से निकाली गई और स्थानीय चिलमन चौक में केन्द्र सरकार का पुतला दहन किया गया। इस दौरान कार्यक्रर्ताओं ने केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। कार्यक्रम में अभिनव चौरसिया लोकसभा अध्यक्ष युवा कांग्रेस, रूपेंद्र, रवि, शानू, अंकित, विवेक पटेल, कोविद, विनय, दिनेश, शिवम, विवेक, राहुल, सोनू के साथ ही बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

[MORE_ADVERTISE1]