स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

स्वास्थ्य शिविर में रजिस्टे्रशन के लिए ऐप लॉंच

Mangal Singh Thakur

Publish: Sep 02, 2019 12:01 PM | Updated: Sep 02, 2019 12:01 PM

Mandla

नवम्बर में आयोजित होगा नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर

मंडला. रोटरी एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वाधान में 7 से 14 नवम्बर के बीच नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया है। आयोजन की तैयारियों पर विस्तार से चर्चा के लिए रविवार को योजना भवन में बैठक आयोजित की गई। बैठक में स्वास्थ्य शिविर में भाग लेने के लिए मरीजों की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पर विस्तार से चर्चा की गई और रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के लिए ’राहत शिविर 2019’ ऐप लॉन्च किया गया है। जानकारी के अनुसार, कोई भी व्यक्ति एंड्रॉॅयड फोन के प्लेस्टोर ऑपशन में जाकर राहत शिविर 2019 ऐप डाऊनलोड कर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकता है। बैठक में रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की संपूर्ण जानकारी पीपीटी के माध्यम से दी गई।
कलेक्टर डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया ने बैठक में कहा कि शिविर का ग्रामीण एवं आसपास के जिलों में पर्याप्त प्रचार-प्रसार किया जाये ताकि अधिक से अधिक लोगों को नि:शुल्क चिकित्सा का लाभ मिल सके। उन्होंने बीएमओ को ग्रामीण स्तर पर स्वास्थ्य, आंगनवाड़ी एवं आशा कार्यकर्ता के माध्यम से शिविर का लाभ लेने संबंधित जानकारी प्रसारित करने के निर्देश दिये। डॉ. जटिया ने कहा कि जिले के अलावा आसपास के जिलों से आने वाले मरीजों के लिए भी शिविर में पर्याप्त इंतजाम किया जाये। शिविर की अलग-अलग चिकित्सा के लिए चिन्हित किए गए जिला चिकित्सालय, योगीराज तथा कटरा हॉस्पिटल में आवश्यक निर्माण कार्य पूरा करने के लिए कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिये। साथ ही शिविर के दौरान अलग-अलग अस्पतालों के लिए कलरकोड निर्धारण पर भी चर्चा की।
विधायक डॉ. अशोक मर्सकोले ने कहा, शिविर में लाभ लेने के लिए आने वाले मरीजों की जांच सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। जांच में गंभीरतापूर्वक बरती जाये। उन्होंने कहा कि मरीजों की समुचित एवं सटीक जांच होने पर ही उनको मिलने वाला लाभ सार्थक होगा। मरीजों की सहुलियत का पूरा ध्यान रखने जरूरी व्यवस्थाओं को पुख्ता रखने की बात कही। डॉ. मर्सकोले ने शिविर को सफल बनाने पहले 2-3 दिन की व्यवस्थाओं को ज्यादा बेहतर तरीके से करने की बात कही। सीएमएचओ डॉ. श्रीनाथ सिंह ने शिविर के दौरान की जाने वाली व्यवस्थाओं की जानकारी दी। उन्होंने सभी बीएमओ को मरीजों की जांच के लिए ब्लॉक लेवल पर स्क्रीनिंग यूनिट गठित करने के निर्देश दिये। उन्होंने मरीजों की स्क्रीनिंग के बाद उनकी आवश्यक जांच के लिए मोबाईल यूनिट के गठन के बारे में बात की। बैठक में मरीजों के स्क्रीनिंग का कार्य करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों के प्रशिक्षण के आयोजन संबंधी भी चर्चा भी की गई।
दिल्ली से पहुंचे विशेषज्ञ
बैठक में राहत शिविर में आवश्यक व्यवस्थाओं पर चर्चा करने के लिए जबलपुर एवं दिल्ली से आए हुए विशेषज्ञ डॉक्टर सुभाष गर्ग, डॉ. राजेश धीरामणी तथा डॉक्टर आलोक मुखर्जी उपस्थित रहे। विशेषज्ञ चिकित्सकों ने शिविर के प्रत्येक दिवस के कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार रखने की बात की। उन्होंने रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को कम से कम समय में पूरा करते हुए प्रक्रिया को सरल रखने के निर्देश दिये। विशेषज्ञ चिकित्सकों ने कहा कि मरीजों को रजिस्ट्रेशन के बाद होने वाली चिकित्सा या ऑपरेशन संबंधी जानकारी समय रहते प्राप्त हो जाना चाहिए। शिविर के दौरान भीड़ नियंत्रण, आकस्मिक इंतजाम संबंधी विस्तार से चर्चा की। विशेषज्ञों ने गरीब एवं असहायों तक शिविर का अधिकतम लाभ पहुंचाने के लिए आवश्यक व्यवस्थाऐं करने के निर्देश दिये।
रेफर भी होंगे मरीज
बैठक में चर्चा के दौरान बताया गया कि शिविर में भाग लेने वाले ऐसे मरीज जिनका मुख्यालय में इलाज संभव नहीं है उन्हें बाहर रेफर किया जायेगा। विशेषज्ञों ने रेफर कराये जाने वाले मामलों के लिए एक अलग कमेटी बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन मरीजों का इलाज स्थानीय स्तर पर संभव नहीं होगा उन्हें जबलपुर या अन्य स्थानों पर रेफर कराने की व्यवस्था की जायेगी। इलाज योग्य मरीज को शिविर का अवश्य लाभ दिलाया जाये। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक आरआरएस परिहार, जिला पंचायत सीईओ तन्वी हुड्डा, रोटरी क्लब के अध्यक्ष रश्मि वाजपेयी, रोटेरियन संजय तिवारी सहित प्रशासन तथा स्वास्थ्य अधिकारी एवं रोटरी क्लब के सदस्य उपस्थित रहे।