स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिला अस्पताल में पार्किंग पर प्रशासन ने कसा शिकंजा, अवैध पार्किंग की वजह से मरीज की हुई थी मौत

Neeraj Patel

Publish: Sep 07, 2019 20:01 PM | Updated: Sep 07, 2019 20:01 PM

Mahoba

जिला अस्पताल के इमरजेंसी गेट के बाहर बीते रोज दो पहिया वाहनों के चलते इलाज अभाव में महिला की मौत का जिला प्रशासन ने बड़ा संज्ञान लिया है।

महोबा. जनपद के जिला अस्पताल के इमरजेंसी गेट के बाहर बीते रोज दो पहिया वाहनों के चलते इलाज अभाव में महिला की मौत का जिला प्रशासन ने बड़ा संज्ञान लिया है। मनमाने तरीके से वाहन खड़े करने वालों के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने संयुक्त अभियान चलाकर बड़ी कार्रवाई की है। अस्पताल के इमरजेंसी गेट पर कड़े करीब 24 दो पहिया वाहनों को सीज कर दिया है। सभी वाहनों को नगर पालिका परिषद के कैम्पस में भेज दिया है।

जानें पूरा मामला

महोबा के जिला अस्पताल परिसर में वाहनों की पार्किंग से मरीजों को जिला अस्पताल के अंदर जाना दूभर हो गया था। वाहनों की वजह से जिला अस्पताल के अंदर मरीज को स्ट्रेचर से ली जाने में क़ाफी मुश्किलें होती थीं। इतना ही नहीं इमरजेंसी वार्ड के बाहर भी मरीज के तीमारदार अपने वाहन खड़े कर देते थे, जिससे इमरजेंसी में भी मरीजो को परेशान होना पड़ता था।

कार्रवाई करने के दिए गए निर्देश

कई बार गंभीर हालत में लाए गए मरीज के तीमारदारों को पार्किंग की वजह से मरीज को डाक्टर तक पहुंचाने में काफी समय लग जाता था। आज इन्हीं समस्याओं के चलते जिला अस्पताल मे अवैध पार्किंग पर कार्रवाई करते हुए वाहनों को नगर पालिका भेज दिया गया है और आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें - अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां अब यूपी में करेंगी सोना-चांदी की खोज, बढ़ेंगे रोजगार के अवसर