स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रसाद में बिरयानी खिलाने के आरोप में 43 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज, अभी तक नहीं हुआ कोई गिरफ्तार

Akansha Singh

Publish: Sep 06, 2019 12:40 PM | Updated: Sep 06, 2019 12:40 PM

Mahoba

बिरयानी पर हुए विवाद पर 43 लोगो के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

महोबा. जिले के सालट गांव में 31 अगस्त को उर्स में बिरयानी खिलाने के मामले में चरखारी विधायक की पहल पर पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई है। तहरीर के आधार पर गांव के 43 लोंगो पर मुकदमा दर्ज हो गया है लेकिन अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मामला महोबा जिले के चरखारी कोतवाली स्थित सालट गांव का है जहां 31 अगस्त को मजार पर उर्स का आयोजन हुआ था। उर्स में आस पास के गांवों के हिन्दू उर्स में शामिल हुए थे। ग्रामीणों ने आरोप लगाया था कि उर्स में हिन्दुओं को प्रसाद के नाम पर नानवेज बिरयानी बांटी गई थी जिसे लेकर ग्रामीण आक्रोशित थे। मामला क्षेत्रीय बीजेपी विधायक ब्रजभूषण राजपूत तक पहुंचा तो विधायक ने सालट गांव पहुंच ग्रामीणों से बात की और फिर विधायक के दखल के बाद ग्रामीणों द्वारा चरखारी कोतवाली में एक तहरीर दी गयी। जिसमें कल्लू, सहादत, छुट्टन, रमजान, रसीद, बल्लू, छुन्ना, पप्पू, मजीद, नजीर, कमरुद्दीन, हजरत, बसीर, राजू, अंसार अकरम, साबिर, शरीफ, इंशाक, समीम, यूसुफ, यूनिस, भूरा, मुन्ना एवं 20 अज्ञात के खिलाफ 153 क, 295 क,420, 506 धाराओं में केस दर्ज किया गया है। अभी किसी की गिरफ़्तारी नहीं हो सकी है। मगर इतना तो साफ़ है कि बिरयानी का ये विवाद विधायक के पहुँचने के बाद फिर से बढ़ गया था। जबकि ये मामला ग्रामीणों ने आपसी सहमति से ख़त्म कर दिया था मगर विधायक चरखारी ने पहुंचकर सभी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं गांव में अभी भी तनाव बना हुआ है।