स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिरयानी मामले में विधायक ने जताई नाराजगी, की जांच की मांग, 18 गांवों के पीड़ितों को सीएम से मिलवाएंगे

Akansha Singh

Publish: Sep 11, 2019 10:37 AM | Updated: Sep 11, 2019 10:37 AM

Mahoba

महोबा- अब सीएम के दरवार पर पहुँचेगा का नॉनवेज बिरयानी मामला

महोबा. जिले में नॉनवेज बिरयानी मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक बार फिर चरखारी विधायक ने इस मामले को लेकर सख्ती दिखाई है। जहां विधायक ने वन विभाग की जांच पर असंतुष्टि जताई है वहीं पूरे मामले को सीएम के दरबार में ले जाने की बात अब विधायक ब्रजभूषण कह रहे हैं।

महोबा का सालट गांव अभी भी चर्चा का विषय बना हुआ है। एक बार फिर नॉनवेज बिरयानी के विवाद को विधायक ने हवा दी है। आपको बता दें की चरखारी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सालट में मजार के उर्स के दौरान एक समुदाय द्वारा नॉनवेज बिरयानी प्रसाद के रूप में वितरित किए जाने का मामला सामने आया था। ऐसे में अब आयोजकों के लिए यह मामला मुसीबत बन गया है। कथित तौर पर बीफ की बिरयानी बांटे जाने को लेकर मामला इतना गरमाया की चरखारी विधायक बृजभूषण राजपूत द्वारा पूरे मामले को लेकर मजार की सत्यता की जांच तक कराई गई। आपको बता दें इसकी वन विभाग द्वारा मजार की जांच किए जाने के निर्देश विधायक ने दिए थे। वन विभाग की जांच में जहां मजार को सदियों पुराना बताया गया है। तो वहीं मजार के चारों तरफ बनी दीवार को नया निर्माण बताकर उसे तोड़े जाने के आदेश दिए गए थे। मगर विधायक इस जांच से संतुष्ट नहीं है और अब इस मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने जाने की बात कह रहे हैं।

विधायक बृजभूषण राजपूत बताते हैं की नॉनवेज बिरयानी खिलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए तो वही उन्होंने यह भी कहा यदि वन विभाग जल्द ही अवैध निर्माण नहीं हटाता है तो वह खुद बुधवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर इस पूरे प्रकरण से अवगत कराएंगे। साथ ही 13 सितंबर को मुख्यमंत्री के चित्रकूट दौरे के दौरान 18 गांव के पीड़ितों को सीएम के सामने पेश किया जाएगा और ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी जो मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं।

विधायक का साफ तौर पर कहना है कि धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाई गई है और षड्यंत्र रच कर हिंदू धर्म के लोगों का धर्म भ्रष्ट कराया गया है। भविष्य में ऐसी गलती ना हो इसके लिए जरूरी है कि आरोपी जेल जाएं उन्होंने कहा की जो लोग जानबूझकर इस मामले को दबा कर खत्म करना चाहते हैं उनकी शिकायत भी सीएम योगी से की जाएगी। आपको बता दें चरखारी विधायक बृजभूषण राजपूत इस मामले के शुरू होने से ही चर्चा में है कथित तौर पर बीफ बिरयानी प्रसाद के रूप में वितरित किए जाने और मजार की सत्यता की जांच हेतु लगातार अधिकारियों को निर्देशित कर रहे है।