स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

द्रोणिका और चक्रवात के असर से सावन के आते ही मानसून हुआ सक्रिय, किसानों के चेहरे खिले

Akanksha Agrawal

Publish: Jul 19, 2019 14:35 PM | Updated: Jul 19, 2019 14:35 PM

Mahasamund

- सावन के दूसरे दिन छत्तीसगढ़ में मानसून हुआ सक्रिय
- प्रदेश के कई इलाकों में झमाझम बारिश से किसानों के चेहरे खिले
- निकासी की सुविधा न होने के कारण बारिश के आते ही सडक़ोंं पर भरा पानी

महासमुंद. जिले में मानसून (Monsoon in Chhattisgarh) पिछले कुछ दिनों से सक्रिय हुआ है। गुरुवार को दिन में जहां बादल छाए रहे, वहीं शाम को झमाझम बारिश (rainfall) हुई। एक तरफ जहां बारिश से किसानों के चेहरे खिले हुए हैं। वहीं शहर में बारिश (rain shower) से नालियां जाम हो गई।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार उत्तर पश्चिमी राजस्थान से उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक द्रोणिका बनी हुई है। इसके अलावा ओडि़शा और बंगाल की खाड़ी में च्रकवात बना हुआ है। इसकी वजह से शहर में बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने आगामी दो दिनों में गरज व चमक के साथ बारिश होने का अनुमान लगाया है। मौसम विभाग ने कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना जताई है। महासमुंद में 9.0 एमएम बारिश दर्ज की गई।

इसके अलावा सरायपाली में 13.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। शहर का अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार आकाश मेघमय रहेगा। एक जून से अब तक महासमुंद में 422 एमएम, सरायपाली में 353 एमएम, बसना में 332 एमएम, पिथौरा में 309 एमएम और बागबाहरा में 249 एमएम बारिश दर्ज की गई है। महासमुंद में अब तक औसत बारिश 333 एमएम बारिश दर्ज की गई। जिले में इस वर्ष संभावित औसत 1434 एमएम बारिश का अनुमान लगाया गया है।

इस वर्ष अभी तक सबसे कम बारिश बागबाहरा में हुई है। बारिश की वजह से शहर के कई नालियों, सब्जी बाजार व बस स्टैंड, शिक्षा विभाग कार्यालय के सामने पानी भर गया। निकासी नहीं होने की वजह से लोगों को समस्या हुई। बारिश से किसानों को राहत मिल रही है। खेती-किसानी के कार्य में तेजी आई है।

 

नालियों की सफाई नहीं
नालियों की सफाई ठीक से नहीं हुई है। इसकी वजह से सडक़ किनारे कचरा बिखरा हुआ नजर आया। महामाया मंदिर के पास एक बार फिर से नाली जाम हो गया था, इसकी वजह से यहां पानी भर गया था। वार्डवासियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

नयापारा, मौहारीभांठा, इमलीभाटा में पानी भर जाने से लोगों को आने-जाने में परेशानी हुई। बारिश के बाद रमनटोला के आस-पास पानी भर गया है। यहां कई जगह मुरुम के लिए गड्ढे खोद दिए गए हैं, जिसकी वजह से जगह-जगह पानी लबालब भर गया है। सुबह गलियों में पानी भरा होने की वजह से लोगों को आने-जाने में दिक्कत का सामना करना पड़ा। दोपहिया चालकों को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

Chhattisgarh Weather की खबर यहां बस एक क्लिक में

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें