स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस की सख्ती के असर से RTO में बढ़ी भीड़, आवेदकों को टेस्ट के लिए मिल रही नवंबर- दिसंबर की तिथि

Bhawna Chaudhary

Publish: Oct 09, 2019 15:32 PM | Updated: Oct 09, 2019 15:32 PM

Mahasamund

आरटीओ कार्यालय में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए लोगों को मशक्कत करनी पड़ रही है।

महासमुंद. आरटीओ कार्यालय में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए लोगों को मशक्कत करनी पड़ रही है। एक तरफ आवेदकों को नवंबर व दिसंबर की तिथि टेस्ट के लिए मिल रही है। वहीं छुट्टी के दिन भी लोगों को टेस्ट के लिए बुलाया जा रहा है। मंगलवार को विजयादशमी की छुट्टी थी और कई आवेदक टेस्ट देने के लिए आरटीओ कार्यालय पहुंचे थे। उन्हें निराशा हाथ लगी। कई आवेदक 150 किमी का सफर तय कर आरटीओ कार्यालय पहुंचे थे।

मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों की तादाद बढ़ी है। प्रतिदिन डीएल बनवाने के लिए आरटीओ में भीड़ बढ़ रही है। मंगलवार को 15 से 20 लोग आरटीओ कार्यालय पहुंचे थे। रामपुर से आए संजय प्रधान, भूषण लाल साहू, महेंद्र चौधरी ने बताया कि सरकारी आवकाश के दिन तिथि नहीं देनी चाहिए थी। हम 155 किमी का सफर कर आए हैं। अवकाश के दिन भी कार्यालय में ऑडिट का काम चल रहा है, कहकर हमें फिर से ऑनलाइन में तिथि बदलने के लिए कहा जा रहा है। गौरतलब है कि दो महीने तक डीएल के लिए तिथि नहीं मिल रही है।

भंवरपुर के लाल यादव, परमानंद बाग और बनडबरी के लिलेश कुमार ने बताया कि लाइसेंस के लिए आवेदन किए 10 दिन से भी ज्यादा बीत चुके हैं। मंगलवार की तिथि मिली थी। कर्मचारी बोल रहे हैं कि आज लाइसेंस नहीं बनेगा। स्थानीय स्तर पर भी कोई कार्यालय नहीं है, इतनी दूर हम पैसा खर्च कर आते हैं। लाइसेंस बनाने के लिए अलग से छुट्टी भी लेनी पड़ती है। लर्निंग बनाने में एक दिन पूरा लगता है, ऐसे में परेशानी होती है।

डीएल लाइसेंस के लिए लंबा इंतजार
परिवहन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार अगस्त महीने से 529 ड्राइविंग लाइसेंस बनाए गए थे। सितंबर का आंकड़ा अभी तक मिला नहीं है। लर्निंग लाइसेंस मंगलवार, बुधवार और शुक्रवार को बनाए जाते हैं। वहीं स्थाई लाइसेंस सोमवार, गुरुवार, शनिवार को बनाए जाते हैं। वर्तमान में सारे कार्य ऑनलाइन हो गए हैं, इस वजह से लोगों को परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है। जिनको नवंबर और दिसंबर की तिथि मिली है, उन्हें लंबा इंतजार भी करना पड़ रहा है। बीटीआई रोड स्थित एक च्वाइस सेंटर के संचालक ने बताया कि तिथि संबंधित समस्या आ रही है। लोगों को नवंबर और दिसंबर की भी तिथि मिल रही है। वे इसे कम करने के लिए भी कहते हैं।