स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाई को राखी बांधने से पहले क्यों लगाए जाते है तिलक और चावल, जानिए इसका महत्व

Bhawna Chaudhary

Publish: Aug 12, 2019 12:23 PM | Updated: Aug 12, 2019 12:41 PM

Mahasamund

Raksha Bandhan: क्या आपकों पता भाई को राखी (Rakhi) बांधने से पहले तिलक और चावल क्यों लगाए जाते है, आइए जानते है इसका क्या महत्त्व है।

रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2019) पर बहनें अपने भाई को रक्षा सूत्र (Rakhi) बांध कर उसके सुखी जीवन की कामना करती हैं और भाई अपनी बहन की रक्षा करने का वचन देता है।लेकिन क्या आपकों पता भाई को राखी बांधने से पहले तिलक और चावल क्यों लगाए जाते है, आइए जानते है इसका क्या महत्त्व है।

तिलक मष्तिष्क पर दोनों भौहों के बीच में लगाया जाता है क्योंकी तिलक में चंदन, रोली,सफेद चंदन का उपयोग किया जाता है। जब राजा महाराजा युद्ध के लिए जाते थे तो उनके माथे पर तिलक लगाया जाता था और उसके साथ चावल लगाया जाता था। तिलक को वजय, साहस और सम्मान का प्रतीक माना जाता है।

 

raksha bandhan

रक्षाबंधन सावन पूर्णिमा के दिन पड़ता है जिस कारण चावल का अधिक महत्व होता है। पुर्णिमा के दिन चंद्रमा का बल अधिक माना जाता है। तिलक के ऊपर चावल लगाना एक रिवाज होता है क्योंकि तिलक और चावल लगाने से मष्तिष्क शांत रहता है।माना जाता है कि ललाट पर नियमित रूप से तिलक लगाने से मस्तिष्क शांति रहता है और सुकून का अनुभव करता है। साथ ही कई मानसिक बीमारियां भी इससे ठीक हो सकती है।

माथे पर तिलक लगाने से दिमाग में सेराटोनिन और बीटा एंडोर्फिन का स्राव संतुलित तरीके से होता है, जिससे उदासी दूर होने में मदद मिलती है।साथ ही सिरदर्द की समस्या में कमी आती है।

 

raksha bandhan

एक धार्मिक मान्यता ये भी है कि चंदन का तिलक लगाने से मनुष्य के पापों का नाश होता है। लोग कई तरह के संकट से बच जाते हैं और ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, तिलक लगाने से ग्रहों की शांति होती है।

माना जाता है कि चंदन का तिलक लगाने वाले का घर अन्न-धन से भरा रहता है और सौभाग्य में बढ़ोतरी होती है।

Raksha Bandhan से जुडी ख़बरों को पढ़ने के लिए क्लिक करें