स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जंगली हाथियों के आतंक से परेशान किसानों ने निकाली रैली, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

Ashish Gupta

Publish: Oct 17, 2019 19:03 PM | Updated: Oct 17, 2019 19:09 PM

Mahasamund

हाथियों के उत्पात से त्रस्त किसानों और ग्रामीणों ने गुरुवार को जिला मुख्यालय में रैली निकाली। इस रैली में हाथी प्रभावित गांव के 300 से अधिक किसान शामिल हुए।

महासमुंद. हाथियों के उत्पात से त्रस्त किसानों और ग्रामीणों ने गुरुवार को जिला मुख्यालय में रैली निकाली। इस रैली में हाथी प्रभावित गांव के 300 से अधिक किसान शामिल हुए। यह रैली जनपद पंचायत के पास से निकलकर सीधे कलेक्टोरेट पहुंची। गेट पर किसानों को रोक दिया गया। किसान अपनी बात को कलेक्टर के सामने रखना चाह रहे थे। कलेक्टर से मिलने व ज्ञापन देने की बात को लेकर किसान एक घंटे तक अड़े रहे।

किसानों का कहना था कि हाथी प्रभावित गांवों में किसान दहशत के साये में जीवन-यापन कर रहे हैं। शाम होते ही निकल नहीं पा रहे हैं। हमेशा यही डर लग रहा है कि उत्पाती हाथी उनके घर के सामने धमक न जाएं, लेकिन किसी को हमारी तकलीफ से लेना-देना नहीं है।

इधर, करीब एक घंटे के बाद कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने किसानों को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बुलाया और उनकी पीड़ा सुनी। बैठक में दस मांगों पर बारी-बारी से चर्चा हुई। कलेक्टर ने कहा कि मैं आपकी तकलीफ से वाकिफ हूं। मैं भी दुखी हूं। समस्याओं का समाधान करने का प्रयास किया जाएगा।

हाथी प्रभावित गांवों में विधायक व सांसद निधि से लाइट लगाने का प्रयास किया जाएगा। शासन स्तर की मांगों पर चर्चा की जाएगी। डीएफओ मयंक पांडेय ने मांगों को लेकर सकारात्मक जवाब दिया। बैठक के दौरान जनपद अध्यक्ष धरमदास महिलांग, जनपद सदस्य योगेश्वर चंद्राकर सहित हाथी प्रभावित गांव के किसान मौजूद थे।