स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नकली नोटों को खपाने बदमाशों ने अपनाया ये अनोखा तरीका, जानकर पुलिस के भी उड़ गए होश

Bhawna Chaudhary

Publish: Aug 31, 2019 12:57 PM | Updated: Aug 31, 2019 12:59 PM

Mahasamund

महासमुंद जिले (Crime in Mahasamund) में नकली नोटों के कारोबार का बड़ा खुलासा हुआ है।

महासमुंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले (Crime in Mahasamund) में नकली नोटों के कारोबार का बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस की गिरफ्तर में आए पांच युवकों ने पूछताछ में बताया कि नकली नोट (Fake currency) बाजार में खपाने का काम लंबे समय से चल रहा था। आरोपियों के इस खुलासे के बाद पुलिस के होश उड़ गए।

पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि 19 अगस्त को दिनेश बंजारा और हनुमान धृतलहरे तुमगांव निवासी कुलवंत कौर के घर पर आए और पैसा दोगुना करने की बात कहने लगे। कुलवंत कौर उनके झांसे में आकर करीब एक लाख रुपए दिनेश बंजारा और हनुमान धृतलहरे को दे दिए। 29 अगस्त को दोपहर 11:30 से 12:30 बजे के बीच दिनेश बंजारा, हनुमान धृतलहरे अपने अन्य दो साथी जय कुमार व तिहारू कोसले के साथ महिला के घर आए। उनके पास एक सफेद रंग की मारुति कार क्रमांक सीजी 28 एच 6710 थी। दिनेश बंजारा ने कुलवंत कौर उर्फ रानी को 2 हजार और 500 रुपए के नोटों का बंडल देकर कहा कि तुम्हारे दिए एक लाख रुपए को हमने डबल कर दिए हैं।

नकली नोटों को खपाने बदमाशों ने अपनाया ये अनोखा तरीका, जानकर पुलिस के भी उड़ गए होश

तीन लाख 25 हजार के नकली नोटों के साथ पकड़ा
नोटों के बंडल को कुलवंत कौर ने अपने पति जगदीश के सामने गिन रही थी। उन्हें नोटों के सीरियल नंबर देखकर नकली लग रहे थे। 2000 रुपए के 80 नोटों में सीरियल नंबर 6एडी707743 लिखा हुआ था और 500 के कुल 80 नोट 3 सीएन 501131 लिखा था। तब कुलवंत कौर ने अपने पति जगदीश को थाना तुमगांव भेजा। पति के थाना से वापस आने तक सभी को बहला-फुसलाकर उलझाए रखा। कुछ देर के बाद प्रार्थिया का पति थाना तुमगांव पुलिस के साथ घर आया। पुलिस ने आरोपियों को दबोच लिया। प्रार्थिया की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने मामला 420, 489, क,ख,ग, 34 भादंवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।

ये हुए गिरफ्तार
पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की। पकड़े गए आरोपियों में दिनेश बंजारा ऊर्फ देवराज पिता धनलाल (28) सेनगुड़ा थाना लोरमी, हनुमान धृतलहरे पिता बिसाहू (45) निवासी सोनपुरी थाना पंडरिया, जयकुमार अनंत पिता आत्माराम (49) साकिन धरमपुरा थाना लोरमी, तिराहु कोसले पिता भोंदलदास (42) साकिन सोनबरसा थाना पिपरिया को गिरफ्तार किया गया। फिर चार आरोपी के बारे में पुलिस ने पूछताछ की। जानकारी के मुताबिक पकड़े गए आरोपी पहली बार नकली नोट खपाने का प्रयास कर रहे थे और पकड़ में आ गए।

मुंगेली में की जाती थी नकली नोटों की प्रिंटिंग
आरोपी दिनेश बंजारा की निशानदेही पर नकली नोट छापने का कार्य करने वाले ग्राम भुलनकांपा निवासी थाना पथरिया के नरेंद्र मंगेसकर पिता लाभो मोहले के कब्जे से मुंगेली जाकर नकली नोट छापने के लिए इस्तेमाल किए गए कम्प्यूटर, प्रिंटर को बरामद कर हिरासत में लेकर थाना तुमगांव लाया गया। आरोपियों से कुल 5 नग मोबाइल, नकदी रकम 4250 रुपए, कलर प्रिंटर, कम्प्यूटर सेट व घटना में प्रयुक्त किए गए मारुति 800 वाहन क्रमांक सीजी 28 एच 6710 कुल जुमला कीमत 4,49250 रुपए कीमती बरामद किया गया।

कार्रवाई में ये शामिल
यह कार्यवाई पुलिस अधीक्षक जितेंद्र शुक्ला के आदेशानुसार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक वेदव्रत सिरमौर, एसडीओपी एनके सूर्यवंशी के दिशा निर्देश पर थाना प्रभारी उपनिरीक्षक योगेश कुमार सोनी के नेतृत्व में आरक्षक अनिल बंजारे, नरेश वर्मा, नवल किशोर प्रधान, ओमप्रकाश चंद्राकर का विशेष योगदान रहा।