स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महासमुंद: चीतल के सात सींग, जंगली जानवर और बेशकीमती लकड़ियां के साथ पुलिस ने पकड़ा ग्रामीण को

Bhawna Chaudhary

Publish: Aug 06, 2019 13:27 PM | Updated: Aug 06, 2019 13:27 PM

Mahasamund

वन विभाग की टीम ने मुखबिर की सूचना पर छापामार कारवाई करते हुए दो ग्रामीण के घर से विभिन्न प्रकार की बेश्कीमती लकड़ी, एक जीवित नर जंगली सुअर, 7 चीतल का सींग एवं फर्नीचर बनाने के औजार बरामद (Crime news) किया।

महासमंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद वन परिक्षेत्र के ग्राम लोहारडीह में वन विभाग की टीम ने मुखबिर की सूचना पर छापामार कारवाई करते हुए दो ग्रामीण के घर से विभिन्न प्रकार की बेश्कीमती लकड़ी, एक जीवित नर जंगली सुअर, 7 चीतल का सींग एवं फर्नीचर बनाने के औजार बरामद किया। ग्रामीण के खिलाफ विभाग ने भारतीय वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9, 49, 51 एवं भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 26(1) के तहत (Crime news) कार्यवाही की।

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर से सूचना मिली कि लोहारडीह के रामजी पिता गणेशु ध्रुव के यहां बेश्कीमती लकड़ी, एक जंगली शूकर का बच्चा व चीतल के सींग है। सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम लोहारडीह पहुंचकर रामजी के यहां छापामार कार्रवाई की। उसके घर से टीम ने बीजा लकड़ी का चिरान, सागौन बल्ली लगभग 1.068 घन मीटर जिसका बाजार मूल्य लगभग 0.50 लाख रुपए, एक जीवित जंगल ***** का बच्चा, 7 नग चीतल का सींग, बढ़ईगिरी के आवश्यक उपकरण बिंधना, गिरमिट, बसुला, टंगिया, हंसिया, चापड़ बरामद किए।

वहीं गुलजार पिता रामासिंग ध्रुव के घर पर भी छापामार कार्रवाई करते हुए बीजा लकड़ी के चिरान लगभग 1.872 घनमीटर जब्त की गई। जिसका बाजार मूल्य लगभग 0.80 लाख रुपए है। इस कार्रवाई वनमंडलाधिकारी महासमुंद आलोक तिवारी के मार्गदर्शन में परिक्षेत्राधिकारी मनोज चंद्राकर के नेतृत्व में परिक्षेत्र सहायक नवीन कुमार शर्मा, ज्ञानचंद कश्यप, नरेश सिंह चंदेल, राकेश सिंह परिहार एवं नरेन्द्र चन्द्राकर, मनीष नेताम, जगतूराम ठाकुर, वनरक्षक दु्रपत कन्नौजे आदि द्वारा की गई।