स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चंद्रयान-2 की लाइव लैंडिंग देखने पहुंची छत्तीसगढ़ की श्रीजल, कहा- अद्भुत और गर्व करने वाला मिशन, लगा चांद पर पहुंच गई

Bhawna Chaudhary

Publish: Sep 08, 2019 12:31 PM | Updated: Sep 08, 2019 12:34 PM

Mahasamund

केंद्रीय विद्यालय महासमुंद की 9वीं की छात्रा श्रीजल चंद्राकर ने इसरो मुख्यालय बंगलुरु में पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ चंद्रयान-2 की लाइव लैंडिंग देखने को अद्भुत क्षण बताया।

महासमुंद. केंद्रीय विद्यालय महासमुंद की 9वीं की छात्रा श्रीजल चंद्राकर ने इसरो मुख्यालय बंगलुरु में पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ चंद्रयान-2 की लाइव लैंडिंग देखने को अद्भुत क्षण बताया।

श्रीजल ने बताया कि चंद्रयान-2 मिशन में लैंडर से संपर्क टूटने के बाद जिस तरह इसरो कंट्रोल रूम में सन्नाटा छा गया था, उससे उनके आंखों में आंसू आ गए थे। उन्होंने बताया कि इस बड़ी उपलब्धि के हम गवाह बनने वाले थे, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। उन्होंने बताया कि बड़ी-बड़ी स्क्रीन पर चांद को देखकर लग रहा था कि वे चांद पर ही पहुंच गई है। श्रीजल ने बताया कि उन्होंने प्रधानमंत्री के साथ फोटो भी खींचवाई।

वैज्ञानिकों ने दिया विद्यार्थियों को मार्गदर्शन
श्रीजल ने बताया कि वे अपने पिता योगेश चंद्राकर के साथ बंगलुरु गई थी। रात 9 बजे इसरो के गेस्ट हाउस में देशभर से आए विद्यार्थियों को टेलीमेट्रिक-ट्रेकलिंग एंड कमांड सेंटर ले जाया गया। रात साढ़े दस बजे उनकी मिशन कंट्रोल रूम में इंट्री हुई। यहां इसरों के चेयरमैन के सीवन से मिलने का मौका मिला।

श्रीजल ने बताया कि वैज्ञानिकों ने विद्यार्थियों का मागदर्शन किया। रात 1:38 बजे चंद्रयान-2 लैंडर की लैडिंग प्रक्रिया शुरू हुई। जैसे-जैसे किमी कम हो रहे थे, हॉल में तालियां बज रही थी, लेकिन जैसे ही संपर्क टूटा, वहां सन्नाटा छा गया।