स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां फिर 19 हाथियों के दल ने मचाया आतंक, फसलों को किया तबाह दहशत में ग्रामीण

Akanksha Agrawal

Publish: Sep 12, 2019 14:14 PM | Updated: Sep 12, 2019 14:14 PM

Mahasamund

हाथियों की आमद को लेकर ग्रामीणों में दहशत है। हाथियों के दल ने कलेण्डा गांव में 5 एकड़ फसल को नुकसान पहुंचाया है।

सरायपाली. गोमर्डा अभयारण्य की ओर से 19 हाथियों का एक दल सरायपाली विकासखंड के ग्राम कलेण्डा में बुधवार की अल सुबह आ धमका। धान की फसल को भारी नुकसान पहुंचाया।

हाथियों की आमद को लेकर ग्रामीणों में दहशत है। हाथियों के दल ने कलेण्डा गांव में 5 एकड़ फसल को नुकसान पहुंचाया है। फसल को नुकसान पहुंचाने के बाद हाथियों की मौजूदगी की जानकारी वन विभाग को मिली। ऐहतियात के तौर पर आसपास के ग्रामीणों को सतर्क रहने की सलाह देते हुए मुनादी कराई गई है।

11 सितंबर को ग्राम कलेण्डा के 4 किसान बलदेव वल्द रघुवीर, आंनद सिंग वल्द गजाधर, जानवी वल्द नरेन्द्र सिंग एवं श्याम वल्द विशम्भर के खेत में लगी धान की फसल को हाथियों ने रौंद दिया। रोपा लगाने में जिस तरह से खेत की जोताई की जाती है, वैसा ही दृश्य फिलहाल नजर आ रहा है। इसके पूर्व 4 सितंबर को भी हाथियों का दल ग्राम कलेंडा भगत सरायपाली से होकर जंगल की ओर गया था। जहां ग्राम कलेंडा के किसान बलदेव, आनंद सिंग व रत्थू सिंग के लगभग 5 एकड़ से अधिक फसल को नुकसान पहुंचाया है। जानकारी मुताबिक कुल 19 हाथियों का दल है।

इनमें 12 नर-मादा के अलावा 7 छोटे हाथी देखे गए हैं। जिन खेतों एवं क्षेत्र से होकर हाथियों का दल गुजरा है, वहां भी नुकसान हुआ है। कहीं खेतों के मेड़ भी हाथियों के पैरों के तले धंस गए हैं। अभी तक जंगल में ही हाथियों की मौजूदगी की जानकारी मिल रही है। मौका पाकर जंगल क्षेत्र के समीप खेतों में लगी फसल को पुन: नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसे लेकर किसान चिंतित हैं। इधर, सिरपुर इलाके में 20 हाथी विचरण कर रहे हैं। रोज गांवों में धान की फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

खिरसाली में हाथियों का उत्पात, किसान चिंतित
महासमुंद. मंगलवार की रात हाथियों ने खिरसाली में उत्पात मचाया। लगातार तीसरे दिन हाथियों ने किसानों की फसलों को बर्बाद किया है। वहीं हाथियों के सुखीपाली गांव पहुंचने की खबर है। मिली जानकारी के अनुसार वर्तमान में हाथियों का दल तालाझर, खिरसाली, दलदली के आस-पास विचरण कर रहा है। हाथी खेतों में हरियाली देखकर आगे बढ़ रहे हैं। अभी फसल भी तैयार नहीं हो पाई है, ऐसे में किसानों को नुकसान भी हो रहा है। कई किसान ऋण लेकर फसल ले रहे हैं, उनके माथे पर चिंता की लकीरें हैं।

हाथी भगाओ, फसल बचाओ समिति के संयोजक राधेलाल सिन्हा ने बताया कि 20 हाथी अलग-अलग दल में बंटकर धान की फसलों को रौंद रहे हैं। वन विभाग केवल ग्रामीणों को अलर्ट करने तक ही सीमित है। किसानों की सुनने वाला कोई नहीं है। ज्ञात हो कि पिछले एक हफ्ते से हाथियों का उत्पात जारी है। खिरसाली, बंदोरा, गुड़रूडीह, पिरदा आदि गांवों में लगातार हाथियों का विचरण हो रहा है। किसानों को सबसे चिंता अपनी उम्मीद की फसल को हाथियों से बचाने की है।

सरायपाली. गोमर्डा अभयारण्य की ओर से 19 हाथियों का एक दल सरायपाली विकासखंड के ग्राम कलेण्डा में बुधवार की अल सुबह आ धमका। धान की फसल को भारी नुकसान पहुंचाया।

हाथियों की आमद को लेकर ग्रामीणों में दहशत है। हाथियों के दल ने कलेण्डा गांव में 5 एकड़ फसल को नुकसान पहुंचाया है। फसल को नुकसान पहुंचाने के बाद हाथियों की मौजूदगी की जानकारी वन विभाग को मिली। ऐहतियात के तौर पर आसपास के ग्रामीणों को सतर्क रहने की सलाह देते हुए मुनादी कराई गई है।

11 सितंबर को ग्राम कलेण्डा के 4 किसान बलदेव वल्द रघुवीर, आंनद सिंग वल्द गजाधर, जानवी वल्द नरेन्द्र सिंग एवं श्याम वल्द विशम्भर के खेत में लगी धान की फसल को हाथियों ने रौंद दिया। रोपा लगाने में जिस तरह से खेत की जोताई की जाती है, वैसा ही दृश्य फिलहाल नजर आ रहा है। इसके पूर्व 4 सितंबर को भी हाथियों का दल ग्राम कलेंडा भगत सरायपाली से होकर जंगल की ओर गया था। जहां ग्राम कलेंडा के किसान बलदेव, आनंद सिंग व रत्थू सिंग के लगभग 5 एकड़ से अधिक फसल को नुकसान पहुंचाया है। जानकारी मुताबिक कुल 19 हाथियों का दल है।

इनमें 12 नर-मादा के अलावा 7 छोटे हाथी देखे गए हैं। जिन खेतों एवं क्षेत्र से होकर हाथियों का दल गुजरा है, वहां भी नुकसान हुआ है। कहीं खेतों के मेड़ भी हाथियों के पैरों के तले धंस गए हैं। अभी तक जंगल में ही हाथियों की मौजूदगी की जानकारी मिल रही है। मौका पाकर जंगल क्षेत्र के समीप खेतों में लगी फसल को पुन: नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसे लेकर किसान चिंतित हैं। इधर, सिरपुर इलाके में 20 हाथी विचरण कर रहे हैं। रोज गांवों में धान की फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

खिरसाली में हाथियों का उत्पात, किसान चिंतित
महासमुंद. मंगलवार की रात हाथियों ने खिरसाली में उत्पात मचाया। लगातार तीसरे दिन हाथियों ने किसानों की फसलों को बर्बाद किया है। वहीं हाथियों के सुखीपाली गांव पहुंचने की खबर है। मिली जानकारी के अनुसार वर्तमान में हाथियों का दल तालाझर, खिरसाली, दलदली के आस-पास विचरण कर रहा है। हाथी खेतों में हरियाली देखकर आगे बढ़ रहे हैं। अभी फसल भी तैयार नहीं हो पाई है, ऐसे में किसानों को नुकसान भी हो रहा है। कई किसान ऋण लेकर फसल ले रहे हैं, उनके माथे पर चिंता की लकीरें हैं।

हाथी भगाओ, फसल बचाओ समिति के संयोजक राधेलाल सिन्हा ने बताया कि 20 हाथी अलग-अलग दल में बंटकर धान की फसलों को रौंद रहे हैं। वन विभाग केवल ग्रामीणों को अलर्ट करने तक ही सीमित है। किसानों की सुनने वाला कोई नहीं है। ज्ञात हो कि पिछले एक हफ्ते से हाथियों का उत्पात जारी है। खिरसाली, बंदोरा, गुड़रूडीह, पिरदा आदि गांवों में लगातार हाथियों का विचरण हो रहा है। किसानों को सबसे चिंता अपनी उम्मीद की फसल को हाथियों से बचाने की है।