स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पटियाला के आम आदमी पार्टी सांसद डाॅ धर्मवीर ने क्षेत्रीय सुरों के बीच बनाया पंजाब मंच

Shankar Sharma

Publish: Mar 29, 2018 22:15 PM | Updated: Mar 29, 2018 22:15 PM

Ludhiana

सांसद डाॅ धर्मवीर गांधी ने देष में उभरे क्षेत्रीय सुरों के बीच गुरूवार को यहां पंजाब मंच के गठन का ऐलान कर दिया।

चंडीगढ। पंजाब की पटियाला लोकसभा सीट से आम आदमी पार्टी के सांसद डाॅ धर्मवीर गांधी ने देष में उभरे क्षेत्रीय सुरों के बीच गुरूवार को यहां पंजाब मंच के गठन का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा ने क्षेत्रीय पहचान को कुचलने का काम किया है। पंजाब मंच देष की क्षेत्रीय विविधता को स्वायत्तता दिलाने के लिए काम करेगा।


इस सवाल पर कि क्या देष में राजनीतिक तौर पर तीसरे मोर्चे के गठन के लिए मुहिम चला रही पष्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस नेता ममता बनर्जी के साथ उनकी मुलाकात हुई है,डाॅ गांधी ने कहा कि अभी ममता बनर्जी के साथ उनकी षुरूआती मुलाकात हुई है और तीसरे मोर्चे के सिलसिले में बातचीत किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है।


उन्होंने कहा कि पिछले 24 दिन से संसद ठप है। इसका एकमात्र कारण है कि क्षेत्रीय आवाज की अनदेखी की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस देष में क्षेत्रीय विविधता है। इस विविधता को संजोने के बजाय दमन किया जा रहा है। पहले कांग्रेस ने देष की एकता व अखंडता के नाम पर यह किया और अब भाजपा अपने एजेंडे के तहत कर रही है। देष को राज्यों का संघ बनाया गया था ताकि क्षेत्रीय विविधता फलती-फूलती रहे लेकिन पिछले 70 साल में इसका दमन किया गया। केन्द्र-राज्य सम्बन्धों पर पुनर्विचार किया जाए। उन्होंने कहा कि भाजपा का संधीय सहकारीवाद सही नहीं है। यह क्षेत्रीय विविधता का संरक्षण नहीं दमन कर रहा है।


डाॅ गांधी ने कहा कि सन् 1947 से ही केन्द्र व क्षेत्रीय विविधता के बीच टकराव चल रहा है। सत्ता का केन्द्रीयकरण किया गया है और केन्द्र में भाजपा के सत्तारूढ होने के बाद यह और बढा है। उन्होंने कहा कि हम फेडरल इंडिया व डेमोक्रेटिक पंजाब की मांग करते है। जीएसटी ने केन्द्रीयकरण को बढाया है। इसे राज्यों के हित में बनाया जाना चाहिए। आज पंजाब में सुषासन नहीं है। प्रदेष पर 2 लाख 11 हजार करोड रूप्ए से अधिक का कर्ज है। कोई भी जनकल्याणकारी योजना नहीं लाई जा सकती।


प्ंाजाब मंच की भूमिका पर डाॅ गांधी ने कहा कि इसके एजेंडे को मानने वाले सभी दलों और नेताओं को इसमें जोडा जायेगा। आज पंजाब की राजनीति बंट गई है। पंजाब मंच सिख,हिन्दू व दलित को पंजाबियत के नाम पर एकजुट करेगा। अकाली दल पंजाब के हितों के बजाय निजी हितों की राजनीति कर रहा है।

आम आदमी पार्टी ने पंजाब का स्थानीय नेतृत्व समाप्त कर दिया। हम 21 वीं सदी का पंजाब चाहते है। पंजाब मंच 2019 के लोकसभा चुनाव व 2022 पंजाब विधानसभा के चुनाव लडने की तैयारी भी करेगा। डाॅ धर्मवीर गांधी को आम आदमी पार्टी नेतृत्व ने अपनी पार्टी से निलंबित कर दिया था। डाॅ गांधी अभी निलंबित ही है।