स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अमेरिका में नासा का टूर लगवाने के नाम पर छात्रों से ठगे चार करोड़

Brijesh Singh

Publish: Aug 11, 2019 18:15 PM | Updated: Aug 11, 2019 18:14 PM

Ludhiana

Big Cheating Case: लुधियाना के एक प्रतिष्ठित स्कूल के छात्रों को अमेरिका में नासा ( Nasa ) का टूर लगवाने के नाम पर एक ट्रेवल एजेंट ने करीब चार करोड़ रुपए का चूना लगा दिया।

( लुधियाना, धीरज शर्मा )। प्रदेश में ट्रैवल एजंटो के झांसे का रोज कोई न कोई मामला सामने आ ही जाता है। ताजा मामला लुधियाना के एक प्रतिष्ठित स्कूल का है। इस स्कूल के छात्रों को अमेरिका में नासा ( Nasa ) का टूर लगवाने के नाम पर एक ट्रेवल एजेंट ने करीब चार करोड़ रुपए का चूना लगा दिया। स्कूल प्रबंधन ने ही बच्चों के परिजनों से बात की ओर नासा टूर ( nasa tour ) के नाम पर रुपए मंगवाए थे। अब परिजन स्कूल की मिलीभगत का आरोप लगा रहे हैं। मामला चार महीने पहले का है। यह तब सामने आया, जब इतना समय बीत जाने के बावजूद बच्चों के परिजनों को न तो पैसे मिले और न ही वीजा लगवाया गया।

2.80 लाख लिए हर एक बच्चे से

भड़के परिजन पुलिस कमिश्नर डॉ. सुखचैन सिंह से मिलने के लिए पहुंचे। परिजनों ने उन्हें पूरे मामले की जानकारी दी और शिकायत दी। पुलिस कमिश्नर ने इस मामले की जांच के लिए एडीसीपी सुरिंदर लांबा की ड्यूटी लगाई है। पुलिस कमिश्नर दफ्तर मिलने पहुंचे परिजनों ने बताया कि चार महीने पहले स्कूल प्रबंधन की तरफ से एक एजेंट हायर किया गया था। छात्रों के परिजनों से बात कर उन्हें बताया गया था कि बच्चों को अमेरिका के नासा में टूर के लिए जाना है। जिसके लिए एक बच्चे का 2.80 लाख रुपए का खर्च आएगा। इस पर 148 बच्चों के परिजन मान गए और उन्होंने स्कूल प्रबंधन को एजेंट के नाम के ड्राफ्ट और कुछ कैश दे दिया।

... तब लगा झटका

कुछ दिन बीत जाने के बाद उन्हें पता चला कि सभी बच्चों का वीजा कैंसल हो गया है। इसके बाद न तो बच्चों को पैसे वापस दिए गए और न ही उन्हें विदेश भेजा गया। बच्चों के परिजन स्कूल पहुंचे, तो स्कूल वालों ने एजेंट के पास जाने की बात कही, लेकिन किसी जगह पर सुनवाई नहीं हुई। एक बच्चे के पिता तजिंदर ने बताया कि वीजा कैंसल होने के बाद वह एजेंट ( Travel Agent ) के पास गए थे। सारी जानकारी हासिल की और एजेंट ने कहा कि वह सभी के पैसे वापस करेगा, लेकिन उसके बाद उसने किसी की कोई बात नहीं सुनी। बच्चों के परिजनों ने आरोप लगाया कि इस सारे मामले में स्कूल प्रबंधन की मिलीभगत भी है। बच्चों के परिजनों ने तो स्कूल प्रबंधन के नाम पर पैसे दिए थे।

 

पंजाब की ताजा खबरों के लिए यहां क्लिक करें...