स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अभी नहीं होगा यूपी मंत्रिमंडल विस्तार, इस कारण अचानक रोका गया शपथ ग्रहण समारोह

Abhishek Gupta

Publish: Aug 18, 2019 21:38 PM | Updated: Aug 18, 2019 21:45 PM

Lucknow

यूपी सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार के लिए आयोजित शपथ ग्रहण समारोह को लेकर बड़ी खबर है।

लखनऊ. यूपी सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार (UP cabinet expansion) के लिए आयोजित शपथ ग्रहण समारोह (oath taking ceremony) को लेकर बड़ी खबर है। सोमवार को होने वाले इस कार्यक्रम को फिलहाल के लिए रोक दिया गया है। दरअसल सोमवार को दिन में 11 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह निर्धारित था। बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली की तबीयत बिगड़ने की वजह से इस समारोह को रोका गया है। वे दिल्ली के एम्स (AIIMS) अस्पताल में दाखिल हैं और फिलहाल लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi भी उनसे मिले एम्स पहुंचे हैं। वहीं बताया जा रहा है कि सीएम योगी (CM Yogi) भी दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

ये भी पढ़ें- 13 सीटों पर उपचुनाव को लेकर सीएम योगी का बड़ा ऐलान, डिप्टी सीएम की जगह इन्हें दी गई बड़ी जिम्मेदारी

आमंत्रण पत्र वितरण अचानक रोका गया-
समारोह से जुड़े आमंत्रण पत्र के वितरण को भी अचानक रोक दिया गया है। मंत्रि परिषद विस्तार की सहमति के बाद समारोह पर रोक लगा दी गई है। इससे पहले समारोह को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई थी। सोमवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) मंत्रिमंडल विस्तार के मंत्रियों की राजभवन (Raj Bhawab) में शपथ दिलाने वाली थीं। उसके बाद उनके दिल्ली जाने का कार्यक्रम भी निर्धारित था। लेकिन अचानक इस ऐलान से कार्यक्रम में बदलाव होगा। हालांकि अब किस तारीख को मंत्रीमंडल का विस्तार व शपथ ग्रहण समारोह होगा, उसको लेकर अभी फिलहाल कोई आधिकारिक सूचना जारी नहीं की गई है।

ये भी पढ़ें- सपा व कांग्रेस के इन नेताओं ने भाजपा कार्यालय में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की, प्रदेश अध्यक्ष ने की बड़ी घोषणा

UP Vidhan Sabha

6 नए मंत्रियों का मिलना है मंत्रालाय-
सूत्रों की मानें तो योगी मंत्रिमंडल में 6 नए मंत्रियों को शामिल किया जाएगा। शपथ लेने वाले मंत्रियों की सूची राजभवन भेजी दी गई है। कैबिनेट विस्तार में 3 से 4 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार को कैबिनेट मंत्री के तौर पर प्रमोट किया जा सकता है। पश्चिमी यूपी से एमएलसी अशोक कटारिया के नाम की चर्चा तेज हैं। पश्चिमी यूपी से आने वाले विधायकों को मंत्रिमंडल में विशेष स्थान दिया जाएगा। वहीं, पूर्वांचल से भी दो नाम शामिल किए जा सकते है।

ये भी पढ़ें- शिवपाल की पार्टी के साथ-साथ बसपा को लगा झटका, इन नेताओं ने थामा भाजपा का दामन