स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

15 सालों से पिता ने बेटियों का किया दुष्कर्म, हुई गर्भवती तो मां ने गोली खिलाकर बंद करा दिया मुंह

Karishma Lalwani

Publish: Aug 19, 2019 14:35 PM | Updated: Aug 19, 2019 16:00 PM

Lucknow

- बड़ी बेटी के सात साल के होने पर पिता ने की अश्लील हरकत

- छोटी बेटी को भी बनाया अपनी हवस का शिकार

- मां को थी पति की हरकतों की पूरी जानकारी

- लोकलाज का भय दिखाकर मां ने किया बेटियों का मुंह बंद

लखनऊ. राजधानी में रिश्तों को शर्मसार कर देने वाली एक घटना सामने आई। एक पिता ने हैवानियत की सारी हदें पार कर 15 सालों से अपनी बेटियों का दुष्कर्म किया। जब बड़ी बेटी सात साल की हुई, तो पिता ने उसके साथ अश्लील हरकतें करना शुरू कर दिया। इसके कुछ साल बाद अपनी छोटी बेटी को भी पिता ने अपनी हैवानियत का शिकार बनाया। मामले का खुलासा तब हुआ जब बड़ी बेटी ने पत्र लिखकर आशा ज्योति केंद्र से मदद की गुहार लगाई। बेटियों की गुहार पर केंद्र की टीम ने दोनों बहनों को उनके घर से रेस्क्यू किया। पीड़ित बहनों को बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया। समिति ने पिता के खिलाफ पॉक्सो एक्ट (POCSO) के तहत मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिया।

आशा ज्योति केंद्र की एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर अर्चना सिंह के अनुसार, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) के जरिये चलाए जा रहे कवच अभियान के जरिये उन्हें इस प्रकरण की जानकारी हुई। इसके बाद उन्होंने आरोपित की बड़ी बेटी (22) से संपर्क किया। काफी काउंसलिंग के बाद उसने अपने पिता की करतूत के बारे में बताया। इसके बाद टीम ने छानबीन कर योजना के तहत साक्ष्य संकलन किए और पीड़ित बहनों को उनके घर से रेस्क्यू किया। पीड़ित बड़ी बहन ग्रेजुएशन कर रही है और छोटी बहन 14 साल की है। बड़ी बेटी ने 11 अगस्त, 2019 को केंद्र को पत्र लिखकर बताया था कि जब वह छह साल की थी तबसे ही उसके पिता उसके साथ अश्लील हरकतें करता था। कुछ साल बाद छोटी बहन को भी अपनी हवस का शिकार बनाया। समय के साथ यह सिलसिला बढ़ता गया। बड़ी बहन के मुताबिक, इस पूरी घटना की जानकारी मां को सालों से थी। लेकिन मां समाज का भय दिखाकर बेटियों को खामोश कर देती थी।

 

girl

गर्भवती हुई थी बेटी

डीपीओ सुधाकर शरण पांडेय ने बताया कि रेस्क्यू कराई गई लड़कियों के बयान के आधार पर पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज करने की सूचना संबंधित थाने को दी जा चुकी है। प्रभारी निरीक्षक चिनहट सचिन कुमार सिंह के मुताबिक, आरोपी पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पीड़िताओं के अनुसार मां उनके विरोध करने पर उन्हें धमकाती थी। पिता की हरकतों पर रोक लगाने के बजाए मदद करती थी। आशा ज्योति केंद्र को लिखे पीड़िता के पत्र के मुताबिक, पिता की हरकतों की वजह से बड़ी बेटी 5-6 बार गर्भवती हुई, लेकिन मां ने हर बार गोली खिलाकर मुंह बंद करा दिया। पिता की हरकतों की शिकायत पीड़िता ने अपने ननिहाल में भी की। लेकिन वहां भी सभी ने बदनाम की डर दिखाकर उसे चुप करा दिया। पड़ोस में रहने वाली महिला ने आवाज उठाने की हिम्मत दी लेकिन कोई सहारा न मिलने पर दोनों बहनें चुप रहीं। आशा ज्योति केंद्र की प्रभारी अर्चना सिंह के मुताबिक, कवच कार्यक्रम के दौरान उनकी मुलाकात पीड़ित बड़ी बहन से हुई जहां उन्हें उनके पिता की दरिंदगी के बारे में पता चला। इसके बाद बड़ी बहन ने पत्र लिखकर खुद को और छोटी बहन को न्याय दिलाने की गुहार लगाई। पुलिस ने पिता के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, पिता की हरकत में साथ देने वाली मां के खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

वर्दी में मत जाना घर

पिता को गिरफ्तार करने गए पुलिसकर्मियों से बेटियों ने अपील की कि वर्दी में घर मत जाना। समाज के डर से ज्यादा उन्हें पिता के गुस्से का डर है। पीडि़ता ने कहा कि वर्दी में जाने पर आसपास के लोग तरह तरह के सवाल करेंगे। उधर, चिनहट पुलिस ने देर रात आरोपित के घर पर दबिश दी और उसे गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें: शराबी पति ने पहले पत्नी को मारी गोली फिर खुद भी कर ली खुदखुशी