स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रवि शंकर सर्वाधिक पांच अंक के साथ बने चैंपियन

Ritesh Singh

Publish: Aug 18, 2019 22:08 PM | Updated: Aug 18, 2019 22:08 PM

Lucknow

अक्षत भटनागर और अणर्व और स्वेतम अवस्थी चैंपियन बने।

लखनऊ। रवि शंकर ने नाइट इलेवन चेस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए सर्वाधिक पांच अंक जुटाकर ओपन वर्ग के चैंपियन बनने का गौरव प्राप्त किया। लखनऊ जिला चेस स्पोर्ट्स एसोसिएशन के तत्वावधान में शिवानी पब्लिक स्कूल द्वारा मानसरोवर योजना, शहीद पथ स्थित शिवानी पब्लिक स्कूल के परिसर में आयोजित इस टूर्नामेंट में आयु वर्ग के मुकाबलों में कार्तिकेय मिश्रा, अक्षत भटनागर और अणर्व और स्वेतम अवस्थी चैंपियन बने।

ओपन वर्ग के पांचवें व अंतिम राउंड में रवि शंकर ने काले मोहरों से खेलते हुए कपिल कुमार खरे की बढ़त को रोकते हुए जीत दर्ज करने के साथ पूरा अंक अर्जित किया। अंतिम राउंड के बाद रवि शंकर सर्वाधिक पांच अंक के साथ शीर्ष स्थान पर रहे। कमलेश कुमार केसरवानी साढ़े चार अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहे। कपिल कुमार खरे, मेधांश सक्सेना और दीप सिंह के समान चार-चार अंक रहे लेकिन टाईब्रेक स्कोर के चलते कपिल तीसरे, मेधांश चैथे और दीप पांचवें स्थान पर रहे।
अंडर-10 आयु वर्ग में लखनऊ पब्लिक कालिजिएट के कार्तिकेय मिश्रा, शिवानी पब्लिक स्कूल के उज्जवल राज श्रीवास्तव व जागरण पब्लिक स्कूल के अक्षत अभिनव के समान तीन-तीन अंक रहे लेकिन टाईब्रेक स्कोर के चलते कार्तिकेय पहले, उज्जवल दूसरे व अक्षत तीसरे स्थान पर रहे।

अंडर-14 आयु वर्ग में शिवानी पब्लिक स्कूल के अक्षत भटनागर और एक्सीलिया स्कूल के अणर्व तिवारी के समान चार-चार अंक रहे लेकिन टाईब्रेक स्कोर के चलते अक्षत पहले व अणर्व दूसरे स्थान पर रहे। शिवानी पब्लिक स्कूल के मृत्युंजय पाठक तीन अंक के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

अंडर-16 आयु वर्ग में शिवानी पब्लिक स्कूल के स्वेतम अवस्थी व एआर जयपुरिया स्कूल के आदित्य कुमार सिंह के समान तीन-तीन अंक रहे लेकिन टाईब्रेक स्कोर के चलते स्वेतम पहले व आदित्य कुमार सिंह दूसरे स्थान पर रहे। एलपीएस साउथ सिटी की जागृति तिवारी दो अंक के साथ तीसरे स्थान पर रही। आज टूर्नामेंट में विकलांग बच्चों ने भी हिस्सा लिया।
समापन समारोह में शिवानी ग्रुप ऑफ़ स्कूल एंड काॅलेज की संस्थापक चेयरपर्सन श्रीमती सत्यभामा दुबे ने पुरस्कार वितरित किए। उन्होंने अपने उद्बोधन में बच्चों को खेल के लिए प्रोत्साहित भी किया।