स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बसपा ने उपचुनाव के लिये प्रत्याशियों के नाम किये फाइनल, जल्द हो सकता है ऐलान

Akansha Singh

Publish: Aug 19, 2019 08:12 AM | Updated: Aug 19, 2019 08:22 AM

Lucknow

बसपा सुप्रीमो मायावती दिल्ली से लखनऊ लौट आई हैं। कुछ दिन पहले ही उन्होंने नए प्रदेश अध्यक्ष के रूप में पूर्व सांसद मुनकाद अली के नाम का एलान कर संगठन को नए सिरे से तैयार करने की शुरुआत की थी।

लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP supremo Mayawati) दिल्ली से लखनऊ लौट आई हैं। कुछ दिन पहले ही उन्होंने नए प्रदेश अध्यक्ष के रूप में पूर्व सांसद मुनकाद अली (Former MP Munkad Ali) के नाम का एलान कर संगठन को नए सिरे से तैयार करने की शुरुआत की थी। बताया जा रहा है कि वह जल्दी ही बूथ से विधानसभा स्तर तक नए सिरे से बनाए जा रहे संगठन व भाईचारा कमेटियों के गठन से जुड़े कार्यों की समीक्षा करेंगी। बसपा प्रदेश की 13 सीटों पर होने वाले उपचनुव के लिए जल्दी ही प्रत्याशियों का एलान कर सकती है। जोन इंचार्जों ने अपने-अपने क्षेत्र की सीटों के लिए प्रत्याशियों का पैनल पार्टी नेतृत्व को भेज दिया है। कई सीटों पर संभावित प्रत्याशियों को प्रभारी के रूप में तयारी करने का निर्देश दिया जा चुका है।

यह भी पढ़ें - शिवपाल की पार्टी के साथ-साथ बसपा को लगा जोरदार झटका, इन बड़े नेताओं ने थामा भाजपा का दामन

11 सीटों पर संभावित प्रत्याशियों के नाम फाइनल

पार्टी सूत्रों ने बताया कि 13 में से 11 सीटों के संभावित प्रत्याशियों के नाम लगभग फाइनल कर दिये गये हैं। छूटी हुई सीटों में कानपुर कैंट व लखनऊ कैंट सीट है जिन पर अंतिम निर्णय बाकी है। बाकी ग्यारह सीटों में मानिकपुर से राज नारायण निराला, हमीरपुर में नौशाद अली, जैतपुर बाराबंकी से अखिलेश अंबेडकर व प्रतापगढ़ से पिछले लोकसभा सीट के प्रत्याशी रहे अशोक तिवारी को प्रभारी के रूप में तैयारी के लिए कहा जा चुका है। कानपुर कैंट से ब्राह्मण, बाल्मीकि या बघेल समाज के दावेदारों में से किसी का नाम फाइनल हो सकता है। टुंडला सीट से बघेल समाज का प्रत्याशी उतारे जाने की संभावना जताई जा रही है। लखनऊ कैंट सीट से कई नामों पर विचार हो रहा है। बताया जा रहा है कि बसपा सुप्रीमो मायावती जल्दी ही जोन इंचार्जों से बात कर प्रत्याशियों के नाम का एलान कर सकती हैं। मंगलवार को जोन इंचार्जों के साथ बैठक भी हो सकती है। सभी सीटों के प्रत्याशियों का नाम एक साथ जारी किए जाने की योजना है।

यह भी पढ़ें - नहीं होगा मंत्रिमंडल का विस्तार, योगी सरकार ने अचानक टाला शपथ ग्रहण समारोह, यह वजह आई सामने