स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नोंक-झोंक और प्यार से भरा होता है शादी के बाद का पहला साल

Hemant Pandey

Publish: Jul 11, 2019 18:23 PM | Updated: Jul 11, 2019 18:23 PM

Lifestyle

शादी के बाद कपल के लिए पहला साल कई मायनों में खास होता है। वे पार्टी और त्योहारों को एक साथ एंजॉय करते हैं। खुशी तब होती है जब दोस्त और रिश्तेदार इस मेल मिलाप के दौरान पार्टनर के बारे में जानकारी देते हैं। आदतों के बारे में बताते हैं।

शादी के बाद कपल की जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव आते हैं। यादि बात करें शादी के बाद के पहले साल की, तो इस दौरान कपल को एक-दूसरे के अलावा उनसे जुड़े अन्य लोगों को समझने का मौका भी मिलता है। आज के अंक में जानेंगे कि कपल के लिए शादी के बाद का पहला साल किन-किन चुनौतियों से भरा होता है और वे कैसे बिगड़ती परिस्थिति को बिना परेशान हुए संभाल सकते हैं।
पार्टनर की आदतों और सिक्रेट्स को जानने का मौका
बात चाहे अरेंज मैरिज की हो या फिर लव मैरिज की, जब तक कपल एक दूसरे के साथ समय नहीं बिताते तब तक उन्हें एक दूसरे की पसंद-नापसंद, आदतें, शेड्यूल, उठने-बैठने, रहन-सहन और बोलने का तरीका पता नहीं चलता है। जब पता चलता है तो कई बार कपल को कुछ बातों पर गुस्सा भी आता है और कुछ बातों के कारण प्यार में भी इजाफा होता है। अक्सर लाइफ पार्टनर की कुछ सीक्रेट्स शादी के बाद ही पता चलते हैं जो कि जीवनभर के साथी के रूप में पता होनी भी चाहिए। यदि कभी किसी बात पर परिस्थिति बिगड़ती दिखे तो बातों को समझने और समझाने की कोशिश करें। बातों-बातों में कई बार पार्टनर आप पर गुस्सा कर बैठता है लेकिन आप चुप रहकर और उनकी परिस्थिति को जानकर उलट में गुस्सा न करें, बातों का समझाएं।
दोस्तों और रिश्तेदारों से मेलजोल
शादी के बाद पहला साल स्वादिष्ट चीजें खाने के लिए अच्छा माना जाता है। कारण दोस्तों और रिश्तेदारों के घर पर कपल लंच या डिनर के लिए आमंत्रित होकर जाना। यह खुशनूमा पल होता है जब आप अपने पार्टनर के साथ कहीं जाते हैं और सहज तरीके से भोजन करना होता है। इस सिलसिले के दौरान नए-नए लोगों से मिलना अच्छा लगता है। यही मौके होते हैं जब कपल एक -दूसरे की फैमिली में सभी के बारे में जानते हैं।
नोंक झोंक भी कई बार जरूरी
लड़का-लड़की के लिए नवयुगल एक दूसरे के साथ समय बिताना खास होता है। अब तक वे सिर्फ अपना सोचते थे लेकिन अब जिम्मेदारी के लिहाज से खुद से पहले अपने पति या पत्नी की पसंद नापसंद को लेकर भावनात्मक रूप से जुड़ जाते हैं। इस दौरान दोनों में कई बार प्यार देखा जाता है वहीं कई बार इनमें नोंक-झोंक के पल भी आते हैं। हालांकि यह प्यार की निशानी होती है। बशर्ते उसे आपसी समझ से सुलझा लिया जाए।
बातों को सुनकर ही दें जवाब
तुलनात्मक रूप से लडक़े से ज्यादा लड़की के लिए हर चीज, रिश्ता और बात नई सी होती है। कई बार उससे ऐसे सवाल भी पूछ लिए जाते हैं जिसकी कभी उसने उम्मीद भी नहीं की हो। खासतौर पर ऐसा सवाल कि नए मेहमान की खुशखबरी कब दे रही हैं, शुरुआत में आप इसपर गौर नहीं करेंगी लेकिन बार बार पूछे जाने वाले सवालों को सोच समझकर ही जवाब दें ताकि सामने वाले को बुरा न लगे। भोजन बनाने को लेकर भी सवाल होते हैं।