स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नेट बैंकिंग कर रहे हैं तो इन बातों का रखें ख्याल, लापरवाही से हो सकते हैं साइबर क्राइम के शिकार

Rashi Bishnoi

Publish: Mar 30, 2019 15:32 PM | Updated: Mar 30, 2019 15:32 PM

Technology

स्मार्टफोन में एंटी मॉलवेयर/एंटी वायरस सॉफ्टवेयर अपडेट रखें।

कुछ उपाए जिनसे नेट बैंकिंग रहेगी सुरक्षित

मोबाइल से ऑनलाइन बैंकिंग सुरक्षित नहीं है। लोग साइबरक्राइम की चपेट में आ रहे हैं। इमेल, सिम-स्वैप, मोबाइल एप्लिकेशन व नकली बैंक मोबाइल ऐप से धोखाधड़ी हो रही हैं। कई बार आपकी जानकारी के बिना खाते से अचानक पैसे डेबिट होने का मैसेज मिलता है। साइबर विशेषज्ञ के अनुसार सुरक्षित नेटबैंकिंग के लिए कुछ सावधानियां जरूरी हैं।

  • मोबाइल पर हैंडसेट मेन्यू तक पहुंचने के लिए पिन/पासवर्ड सेट करें। ऑनलाइन बैंकिंग अलर्ट के लिए अपना मोबाइल नंबर और इमेल आइडी रजिस्टर/अपडेट रखें।
  • नियमित जंक फाइलों को डिलीट करें।
  • बिना जानकारी यूआरएल फॉलो न करें।

हर सप्ताह डिलीट करें ब्राउजिंग हिस्ट्री

  • किसी को मोबाइल देते समय या ठीक करवाने से पहले रखें सावधानी।
  • मोबाइल में ब्राउजिंग हिस्ट्री डिलीट कर दें। फ़ोन की मैमोरी से फाइलों को रिमूव करें। उनमें बैंक खाता नंबर व महत्वपूर्ण जानकारी हो सकती है।
  • मोबाइल खोने पर बैंक से संपर्क कर सबसे पहले मोबाइल बैंकिंग ऐप को ब्लॉक कराएं। मोबाइल मिलने पर आप उन्हें अनब्लॉक कर सकते हैं।
  • मोबाइल में डेबिट/के्रडिट कार्ड नंबर, सीवीवी नंबर या पिन सेव न करें।
  • बैंक से प्राप्त गोपनीय जानकारियों को मोबाइल में नहीं रखें।
  • स्मार्टफोन में एंटी मॉलवेयर/एंटी वायरस सॉफ्टवेयर अपडेट रखें।