स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अंतिम AGM में अजीम प्रेमजी ने गांधी को किया याद, संपत्ति दान से लेकर पर्यावरण पर की बात

Ashutosh Kumar Verma

Publish: Jul 17, 2019 17:52 PM | Updated: Jul 17, 2019 17:52 PM

Corporate

  • विप्रो चेयरमैन के रूप में अंतिम एजीएम में लिया भाग।
  • 30 जुलाई को चेयरमैन व एमडी पद से होंगे रिटायर।
  • कुकिंल ऑयल कंपनी से विप्रो को वैश्विक आईटी कंपनी बनाया।

नई दिल्ली। विप्रो कंपनी ( Wipro ) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक के तौर पर अपने अंतिम सालाना बैठक ( AGM ) में अजीम प्रेमजी ( Azim Premji ) ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ( Mahatma Gandhi ) कहते थे कि में समाज के लिए संपत्ति का ट्रस्टी होना चाहिये, उसका मालिक नहीं। हाल ही में अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा दान करने वाले प्रेमजी ने इस बैठक में यह भी कहा कि हमें परोपकार के लिए अधिकांश संपत्ति का दान करना चाहिये।

बता दें कि कुछ माह पहले ही अजीम प्रेमजी ने करीब 1.5 लाख करोड़ रुपये दान में दिया है। इस माह के अंत में 30 जुलाई को प्रेमजी अपने पद से रिटायर हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें - कैसे 5 ट्रिलियन डाॅलर की अर्थव्यवस्था बनेगा भारत? विदेशी कर्ज पर स्वदेशी जागरण मंच ने किया विराेध

कंपनी का 75 साल पूरा करना मील का पत्थर

अजीम प्रेमजी के नाम देश के उन बिजनेसमैन में लिया जाता है जो अपने पिता के बिजनेस को और विशाल बनाने के लिए दिन-रात एक कर दिया। उन्होंने अपने पिता की कुकिंग ऑयल कंपनी को आज एक वैश्विक आईटी पावर हाउस कंपनी में बदल दिया है। कंपनी के 75 साल पूरे होने पर उन्होंने कहा, "विप्रो की स्थापना 1945 में हुई थी। यह हमार लिए मील का पत्थर है। हमें गर्व है विप्रो बेहद ही सफल, नैतिक और सामाजिक रूप से जिम्मेदर संगठन के रूप में उभरा है।"

पर्यावरण को लेकर संजीदा हैं प्रेमजी

आईटी सेक्टर में जबरदस्त काम करने के अलावा अजीम प्रेमजी ने अपने दान से हजारों जिंदगियों को छुआ हैं। सामाजिक तौर पर ही नहीं, बल्कि पर्यावरण के मोर्चे पर भी वो बेहर संजीदा रहे हैं। पर्यावरण की बढ़ती बदहाली को इंसानों के लिए सबसे बड़ी चुनौती बताते हुए कहा, "यह भी साफ है कि इस चुनौती का सामना करने के लिए कारोबारियों को भी योगदान देना होगा। विप्रो ने पिछले दशक में क्लाइमेंट के मुद्दे पर कारोबारी समुदाय की अगुवाई की है। इस साल हमने रिन्यूएबल एनर्जी के इस्तेमाल में महत्वपूर्ण वृद्धि की है, जो कुल उपभोग का 40 फीसदी है।"

यह भी पढ़ें - डोनाल्ड ट्रंप ने चीन पर टैरिफ बढ़ाने का फिर रागा अलाप, अमरीकी राष्ट्रपति के ट्वीट से सहमा एशियाई बाजार

प्रेमजी ने विश्वास जताया कि उनके बेटे और चीफ स्ट्रैटिजी ऑफिसर रिशद प्रेमजी अगले चेयरमैन के रूप में विप्रो को एक नई ऊंचाई तक ले जाएंगे। रिशद को लेकर उन्होंने कहा, "रिशद अपने अनुभव, सोच और क्षमता का भरपूर इस्तेमाल करेंगे। वो विप्रो की वैल्यू को बेहद अच्छी तरह से समझते हैं।"

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.