स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

योग गुरु बाबा रामदेव को लग सकता है तगड़ा झटका, गलत प्रोडक्ट बेचने का लगा आरोप

Shivani Sharma

Publish: Jul 22, 2019 13:15 PM | Updated: Jul 22, 2019 13:15 PM

Corporate

  • पतंजलि आयुर्वेद ( Patanjali ) पर गलत प्रोडक्ट बेचने का आरोप लगा है।
  • इन्हीं आरोपों के चलते कंपनी पर 3 करोड़ रुपए तक का जुर्माना लग सकता है।

नई दिल्ली। योग गुरु बाबा रामदेव ( baba ramdev ) की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ( Patanjali ) पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। अगर आप भी पतंजलि प्रोडक्ट ( patanjali product ) इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं क्योंकि हाल ही में खुलासा हुआ है कि पतंजलि अपने प्रोडक्ट के कारण कानूनी दावपेंच में फंसती नजर आ रही है। फिलहाल अमरीका में भी पतंजलि ( Baba Ramdev Product ) के दो शरबत ब्रांड की बिक्री पर रोक लगा दी है। इन उत्पाद के कारण अमरीका खाद्य विभाग पतंजलि आयुर्वेद कंपनी के खिलाफ केस दर्ज करने पर विचार कर रहा है।


लग सकता है 3 करोड़ का जुर्माना

आपको बता दें कि अगर कंपनी इस मामले में दोषी पाई जाएगी तो उस पर करीब 3 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया जा सकता है। अमरीका के यूएसएफडीए विभाग की ओर से एक रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें बताया गया है कि पतंजलि आयुर्वेद कंपनी के दो शर्बत ब्रांड पर में अलग-अलग दावे किए गए हैं। इन शर्बत को बेचने के लिए कंपनी लोगों से झूठ बोल रही है और उन दोनों ही शर्बत में अलग-अलग तरह के दावे कर रही है।


ये भी पढ़ें: RBI के गवर्नर रह चुके रघुराम राजन IMF के प्रमुख बनने की रेस में सबसे आगे


भारत में बेच रहे अलग तरह के प्रोडक्ट

इसके अलावा अगर इंडिया में बेचे जाने वाले प्रोडक्ट की बात करें तो कंपनी ने शर्बत उत्पादों के लेबल पर अलग दावे किए गए हैं, वहीं, अगर हम यही उत्पाद अमरीका में देखें तो उन पर अलग तरह के दावे किए जा रहे हैं। इसका मतलब यह है कि एक जैसे दो अलग-अलग शर्बत पर अलग तरह की बातें लिखी हुई हैं। जबकि दोनों प्रोडक्ट बिल्कुल एक जैसे हैं। इसके साथ ही कंपनी दोनों देशों के लिए अलग-अलग उत्पादन और पैकेजिंग करती है।

baba ramdev

कंपनी पर लगेगा जुर्माना

अमरीका की ओर से लगाए गए आरोप अगर सही साबित होते हैं तो कंपनी के खिलाफ गलत प्रोडक्ट बेचने का मुकदमा दर्ज किया जाएगा, जिसके बाद पतंजलि पर पांच लाख अमरीकी डॉलर तक का जुर्माना लग सकता है। इसके साथ ही कंपनी के अधिकारियों को तीन साल की सजा हो सकती है।


ये भी पढ़ें: आम जनता के पैसे से सड़क बनाने की मोदी सरकार की नई योजना, मिलेगा 8 फीसदी तक का ब्याज


पतंजलि की बिक्री में आई गिरावट

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से मिली जानकारी के मुताबिक पतंजलि ने सालाना वित्तीय रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। वहीं, एक्सपर्ट्स का कहना है कि बीते वित्त वर्ष 2018-19 में भी पतंजलि की बिक्री में और भी ज्यादा कमी आई होगी। केयर रेटिंग्स ने इस साल अप्रैल में बताया था कि 31 दिसंबर 2018 तक की तीन तिमाही में पतंजलि ने सिर्फ 4,700 करोड़ रुपए के उत्पाद बेचे थे।


पतंजलि के टर्नओवर में भी आई गिरावट

केयर रेटिंग्स की रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार ऐसा माना जा रहा है कि पतंजलि के टर्नओवर में गिरावट का बड़ा कारण GST है। जानकारों का मानना है कि कंपनी जीएसटी के हिसाब से अपने आप को मैनेज नहीं कर पाई, जिसके कारण कंपनी को भारी घाटा हुआ है। वहीं, इसके अलावा कुछ लोगों का मानना है कि गलत फैसलों की वजह से कंपनी की महत्वाकांक्षाओं में रुकावट आई है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App