स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अहमदाबाद की यह कंपनी बनाएगी नई संसद का डिजाइन, कुछ ऐसे होगा काम

Saurabh Sharma

Publish: Oct 25, 2019 18:08 PM | Updated: Oct 25, 2019 18:08 PM

Corporate

  • 80 फीसदी भारांश गुणवत्ता और 20 फीसदी वित्त को दिया गया
  • सीपीडब्ल्यूडी के महानिदेशक प्रभाकर सिंह ने दी जानकारी

नई दिल्ली। देश की सत्ता का केंद्र मानी जाने वाली रायसीना पहाड़ी के आसपास के सरकारी भवनों और संसद भवन (सेंट्रल विस्टा) के नवीनीकरण की परियोजना के परामर्शदाता के तौर पर अहमदाबाद की एचसीपी डिजाइन, प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड को चुना गया है। इस परियोजना के लिए निविदाएं आमंत्रित की गईं थी। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) के महानिदेशक प्रभाकर सिंह ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ेंः- धनतेरस के दिन सोने के दाम में 250 रुपए का उछाल, चांदी 900 रुपए चमकी

इस परियोजना के तहत कंपनी सेंट्रल विस्टा और संसद भवन के नवीनीकरण के लिए वास्तु और इंजीनियरिंग कामकाज की रुपरेखा और एक साझा केंद्रीय सचिवालय विकसित करने के लिए परामर्श देगी। संवाददाताओं को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि 'एचसीपी डिजाइन, प्लानिंग एंड मैंनेजमेंटÓ पूर्व में कई योजनाओं पर काम कर चुकी है।

यह भी पढ़ेंः- एसबीआई के नतीजों से संभला बाजार, सेंसेक्स मामूली बढ़त के साथ बंद, निफ्टी सपाट

यह कंपनी इससे पहले साबरमती रिवरफ्रंट विकास परियोजना में भी शामिल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर यहां एक बड़े कार्यक्रम में शरीक हुए थे। सिंह ने कहा, ''एचसीपी डिजाइन, प्लानिंग एंड मैंनेजमेंट को इस परियोजना के परामर्शदाता के तौर पर चुना गया है।ÓÓ उन्होंने कहा कि बोली का चयन करने में 80 प्रतिशत भारांश गुणवत्ता और 20 प्रतिशत वित्त को दिया गया। आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने इस संबंध में दो सितंबर को बोलियां आमंत्रित की थी।

[MORE_ADVERTISE1]