स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अनिल अंबानी की रिलायंस कैपिटल का बदलेगा नाम, म्यूचुअल फंड कारोबार से होगी बाहर

Shivani Sharma

Publish: Sep 24, 2019 12:02 PM | Updated: Sep 24, 2019 12:02 PM

Corporate

  • कर्ज के बोझ के कारण अनिल अंबानी बेच रहे अपनी कंपनी
  • इस बिक्री के साथ ही कंपनी म्युचुअल फंड कारोबार से पूरी तरह बाहर हो जाएगी

नई दिल्ली। अनिल अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी रिलायंस कैपिटल के शेयरों की बिक्री सितंबर में पूरी हो जाएगी। कंपनी अपने शेयर जापान की कंपनी निप्पोन लाइफ को बेच रही है। इस बिक्री के बाद कंपनी म्यूचुअल फंड के कारोबार से पूरी तरह से बाहर हो जाएगी। रिलायंस निप्पोन लाइफ एसेट मैनेजमेंट के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी।


कंपनी के सीईओ ने दी जानकारी

रिलायंस निप्पोन लाइफ एसेट मैनेजमेंट (आरएनएएम) कंपनी के सीईओ संदीप सिक्का ने कंपनी की सालाना बैठक में सोमवार को इस बात का ऐलान किया। इस बिक्री के साथ ही आरएनएएम में निप्पोन लाइफ इंश्योरेंस की हिस्सेदारी बढ़कर 75 फीसद हो जाएगी। इस बिक्री के साथ ही कंपनी म्युचुअल फंड कारोबार से पूरी तरह बाहर हो जाएगी।


कर्ज के कारण बेच रही संपत्तियां

अनिल अंबानी लंबे समय से कर्ज के बोझ से दबे हुए हैं और अपने लोन को चुकाने के लिए वह काफी समय से अपनी संपत्तियों की बिक्री कर रहे हैं। सिक्क ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि भारत अब निप्पोन लाइफ के लिए मुख्य बाजार है।


संदीप सिक्का ने दी जानकारी

उन्होंने कहा, ''निप्पोन लाइफ को रिलायंस कैपिटल की हिस्सेदारी की बिक्री इस महीने के अंत तक पूरी हो जायेगी।’’ उन्होंने कहा कि यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद ब्रांड का नाम बदला जाएगा। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि नये ब्रांड का नाम क्या होगा। इस बिक्री के बादइ कंपनी में निप्पोन लाइफ की हिस्सेदारी 75 फीसदी तक पहुंच जाएगी। भारत में कारपोरेट कर में पिछले सप्ताह घोषित कटौती के बाद कंपनी को कमाई में 10 फीसदी वृद्धि की उम्मीद है।