स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारतीय बाजार पर नजर बना रहे मार्क जकरबर्ग, ऐसे करेंगे व्यापार का विस्तार

Shivani Sharma

Publish: Aug 05, 2019 17:10 PM | Updated: Aug 05, 2019 17:11 PM

Corporate

  • 2.1 अरब से भी ज्यादा लोग अब फेसबुक, इंस्टाग्राम का प्रयोग कर रहे
  • इस समय भारत में सोशल मीडिया का बाजार बढ़ रहा

नई दिल्ली। मार्क जकरबर्ग अपने सभी प्लेटफॉर्म्स फेसबुक, व्हाट्सएप, मैसेंजर और इंस्टाग्राम के करोड़ों यूजर्स को एक गहन अनुभव प्रदान करने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं। सोशल नेटवर्किंग की दिग्गज कंपनी के मोनेटाइजेशन मिशन के इस प्रयास में उसके कुछ एप्स के लिए सबसे बड़े मार्केट में से एक भारत एक महत्वपूर्ण किरदार अदा कर सकता है।


2.1 अरब से भी ज्यादा लोग चलाते हैं FB

कंपनी के अनुसार, 2.1 अरब से भी ज्यादा लोग अब प्रतिदिन औसतन फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप और मैसेंजर का इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा 2.7 अरब से भी ज्यादा लोग प्रत्येक माह में कम से कम कंपनी के परिवार का एक एप प्रयोग में लाते हैं।


बढ़ रहा सोशल मीडिया का बाजार

भारत में, फेसबुक के 30 करोड़, वाट्सएप के दूसरे 40 करोड़ और इंस्टाग्राम के 7 करोड़ यूजर्स हैं। हाल ही के संवाद में जकरबर्ग ने कहा है कि वह अपनी कई सर्विस को मर्ज करने पर विचार कर रहे हैं, ताकि लोग मूल रूप से सभी प्लेटफॉर्म पर मैसेज कर सकें। वाट्सएप के एक चौथाई 1.5 अरब यूजर्स भारत से हैं। इसलिए इसमें आश्चर्य की बात नहीं कि फेसबुक ने दूसरे देशों में शुरू करने से पहले भारत के मार्केट को अपनी पहली डिजिटल पेमेंट सर्विस के टेस्ट रन के लिए चुना है।


ये भी पढ़ें: धारा 370 हटने के बाद अब लद्दाख में घर खरीद पाएंगे आप


बढ़ रहा इंटरनेट का प्रयोग

एक और आधे साल के टेस्ट रन के बाद फेसबुक व्हाट्सएप के माध्य से अपने पे सर्विस को इस साल के अंत तक लॉन्च करने के बेहद करीब है। ऐसा अनुमान है कि आने के बाद से यह पेमेंट अर्थव्यवस्था पर हावी हो सकता है। प्लेटफॉर्म की कुछ मामलों में नाकामी के बाद और एप के माध्यम से झूठी अफवाहों को फैलाने जैसे आरोपों के बाद भी भारत में स्मार्टफोन व जियो फोन यूजर्स व्हाट्सएप के प्रति खासा लगाव रखते हैं।


बिजनेस के लिए लॉन्च किया नया एप

पिछले साल वाट्सएप ने बिजनेस के लिए अलग से एक एप लॉन्च किया था। हालांकि अभी कंपनी ने इस बात का खुलासा नहीं किया है कि इस बिजनेस एप के कितने यूजर्स हैं, लेकिन खबरों के अनुसार, इनकी संख्या वैश्विक रूप से लोखों में पहुंच गई है। जकरबर्ग ने कहा, "भविष्य में लोग वाट्सएप पर दोस्तों और व्यवसायों को पैसा भेजने, इंस्टाग्राम पर खरीदारी करने या फेसबुक पर लेनदेन करते हुए समान का भुगतान एक दूसरे को आसानी से कर सकेंगे।"


ये भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर की आग में झुलसे टूरिज्म, हैंडीक्रॉफ्ट जैसे उद्योग, लंदन, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी पर भी दिख रहा असर


टिक-टॉक का बढ़ रहा यूज

फेसबुक के लिए एक चुनौती अपने प्लेटफॉर्म पर लोगों को बनाए रखने की भी होगी क्योंकि पिछले कुछ सालों में चाइनीज कंपनी की वीडियो शेयरिंग एप टिक-टॉक ने भारत में तेजी से अपने कमद बढ़ाए हैं। फेसबुक के लिए अच्छी बात यह है कि तमाम विवादों के बाद भी यह पिछले 15 सालों से अपनी बढ़त बनाए रखने में कामयाब हुई है। कैम्ब्रिज एनालिटिका विवाद भी इनमें से एक है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook .com/patrikahindinews">Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App