स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कैंब्रिज एनालिटिका की जांच के बाद फेसबुक ने इन एप्स किया बंद

Saurabh Sharma

Publish: Sep 21, 2019 17:01 PM | Updated: Sep 21, 2019 17:01 PM

Corporate

  • 400 डेवलपरों से जुड़े हजारों एप को कई कारणों से निलंबित किया
  • फेसबुक ने कुछ एप पर पूरी तरह से लगाया प्रतिबंध

नई दिल्ली। कैंब्रिज एनालिटिका डेटा घोटाले के बाद फेसबुक ने करीब 400 डेवलपरों से जुड़े हजारों एप को कई कारणों से निलंबित कर दिया है। फेसबुक ने संदेह के दायरे में आने वाले एप पर अपनी जांच अभी भी जारी रखी है। सोशल नेटवर्किं ग की दिग्गज कंपनी ने कहा कि अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि ये एप लोगों के लिए खतरनाक है या नहीं।

यह भी पढ़ेंः- सोने के दाम में 100 रुपए की बढ़ोतरी, चांदी की कीमत में 200 रुपए का इजाफा

फेसबुक ने अपने ब्लॉग पोस्ट में शुक्रवार को कहा, "वे अभी भी टेस्टिंग फेस में थे। कई काम नहीं कर रहे थे, इसलिए हमने उन सभी को निलंबित कर दिया।" एक अन्य पोस्ट में कहा गया, "कई मामलों में डेवलपरों ने जानकारी के लिए हमारे अनुरोध का जवाब नहीं दिया, इसलिए हमने उन्हें निलंबित कर दिया, क्योंकि हम कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।" कैंब्रिज एनालिटिका डेटा घोटाले के बाद फेसबुक ने मार्च 2018 में अपना 'एप डेवलपर इंवेस्टिगेशन' शुरू किया था।

यह भी पढ़ेंः- चार साल के ऊंचे स्तर पर प्याज के दाम, दिल्ली में 50 रुपए किलो

कंपनी ने 2014 में अपनी प्लेटफॉर्म नीतियों को बदलने से पहले उन सभी एपों की समीक्षा करने का लक्ष्य रखा है, जिन्होंने बड़ी मात्रा में जानकारियां जुटाई थीं। फेसबुक ने कहा, "हमारी एप डेवलपर जांच किसी भी तरह से खत्म नहीं हुई है। लेकिन रिपोर्ट करने के लिए अब तक सार्थक प्रगति हुई है। आज तक इस जांच में लाखों एप शामिल हुए हैं।" कुछ मामलों में फेसबुक ने कुछ एप पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। फेसबुक ने मई में कैलिफोर्निया में एक दक्षिण कोरियाई डेटा एनालिटिक्स कंपनी रेंकवेभ के खिलाफ मुकदमा दायर किया था, क्योंकि इसने जांच में सहयोग नहीं किया था।