स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

विरधा चौकी के दरोगा पर लगाया प्रताड़ना का आरोप, फिर खाया जहर

Akansha Singh

Publish: Oct 19, 2019 10:40 AM | Updated: Oct 19, 2019 11:05 AM

Lalitpur

विरधा चौकी के दरोगा यशवंत सिंह पर प्रताड़ना का आरोप लगा कर पीड़ित ने किया जहर का सेवन

ललितपुर. सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत पुलिस चौकी बिरधा के ग्राम सतरवांस निवासी पंकज पाराशर पुत्र शिवचरण पाराशर उम्र लगभग 45 निवासी ग्राम सतरवांस हाल निवासी चौबयाना ने पुलिस प्रताड़ना से झुब्ध होकर चूहामार दबाई का सेवन कर लिया। जिससे उनकी हालत बिगड़ गई आनन फानन में परिजनों ने उन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया जहां उनका इलाज चल रहा है। इस मामले में पीड़ित पंकज पारासर का आरोप है कि उनके खेत में खड़ी फसल को गांव के ही दबंग ने जानवरों द्वारा नष्ट करवा दिया था। फसल नष्ट होती देख जब उन्होंने विरोध किया तो उन लोगों ने गाली-गलौज की और मारपीट पर उतारू हो गए। जिस पर उन्होंने ने 10 अक्टूबर को पुलिस चौकी बिरधा में लिखित रूप से शिकायती पत्र देकर पूरे मामले से अवगत कराया था । शिकायती पत्र के बाद चौकी इंचार्ज यशवंत सिंह ने दोनों पक्षों को चौकी बुलाया लेकिन विपक्षियों को छोड़ दिया उल्टा पीड़ित को ही रात भर चौकी में बिठा कर रखा और उनसे पैसे भी लिए । पुलिस उन्हें फर्जी मुकदमे में फसाने की धमकी देकर दूसरे पक्ष से राजीनामा का दबाब बना रही थी जिससे झुब्ध होकर अवैध रूप से पैसे माँगने और पैसे न देने की स्तिथि में फर्जी मुकदमे में फ़साने की बात से लगातार मानसिक प्रताड़ना के बाद आख़िरकार अपनी जीवन लीला समाप्त करने की ही ठान ली और पीड़ित ने चूहा मार दवाई का सेवन कर लिया।