स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फीस देने में असमर्थ 15 छात्रों को खड़ा किया स्कूल के बाहर, परीक्षा देने से भी किया वंचित, छात्र ने कहा किया गया बेइज्जत

Karishma Lalwani

Publish: Sep 23, 2019 16:28 PM | Updated: Sep 23, 2019 17:44 PM

Lalitpur

- फीस भर पाने में असमर्थ छात्रों को किया स्कूल के बाहर

- परीक्षा देने से किया वंचित

- पहले भी छात्र उत्पीड़न के मामले आए सामने

ललितपुर. जिले में प्राइवेट स्कूल संचालकों की मनमानी के साथ उनकी दादागिरी भी चरम पर है। ललितपुर के संस्कार वैली अकादमी में 15 छात्रों को फीस न भर पाने के कारण परीक्षा से वंचित कर दिया गया। कक्षा 9वीं के छात्र आदित्य राज बुंदेला को स्कूल फीस न भर पाने के कारण लागातार दो दिनों तक बेइज्जत किया गया। उसे परीक्षा देने से भी रोका गया। इसी तरह स्कूल के अन्य 14 छात्रों को भी परीक्षा नहीं देने दिया गया। उन्हें दो घंटे तक स्कूल के बाहर खड़ा भी किया गया। इस संबंध में पीड़ित छात्र आदित्य राज बुंदेला के पिता कृष्ण प्रताप सिंह ने कोतवाली पुलिस व जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह (Lalitpur DM) को शिकायती पत्र लिखकर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।

छात्र ने लगाया बेइज्जत करने का आरोप

पीड़ित छात्र का आरोप है कि फीस न भरने के लिए उसे दो दिनों तक बेइज्जत किया गया। उसे दो घंटे तक स्कूल के बाहर खड़ा किया गया और परीक्षा से भी वंचित कर दिया। छात्र के पिता ने बताया कि उनके भाई सुरेंद्र प्रताप सिंह की कैंसर की बीमारी के चलते मौत हो गई। इस कारण वह स्कूल फीस भर पाने में असमर्थ हैं। इस समस्या से स्कूल प्रशासन को अवगत भी कराया गया है। लेकिन इसके बावजूद उनके बेटे को परीक्षा से वंचित कर दिया।

पहले भी लगे हैं आरोप

इससे पहले भी स्कूल के नाम छात्रों के उत्पीड़न के कई मामले सामने आ चुके हैं। छात्रों के साथ मारपीट, शौचालय साफ करवाना और उन्हें मुर्गा बनाकर तालिबानी सजा देना शामिल है। स्कूल प्रबंधन के खिलाफ पहले भी जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह व पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बेग से शिकायत की गई है, मगर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ जिला व पुलिस प्रशासन ने कोई एक्शन नहीं लिया।

ये भी पढ़ें: वाहनों की खरीद में लापरवाही डीलर और खरीरददार को पड़ सकती है भारी, इस गलती के लिए देना होगा 15 गुना ज्यादा जुर्माना