स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रभारी मंत्री के लोकार्पण के बाद गहन चिकित्सा इकाई में लगाया ताला, कांग्रेस ने जमकर किया प्रदर्शन

Neeraj Patel

Publish: Aug 04, 2019 20:42 PM | Updated: Aug 04, 2019 20:42 PM

Lalitpur

जनपद प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने अस्पताल परिसर में करोड़ों रुपए की लागत से नवनिर्मित ह्रदय रोग से संबंधित गहन चिकित्सा इकाई का लोकार्पण किया।

ललितपुर. जनपद प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने अस्पताल परिसर में करोड़ों रुपए की लागत से नवनिर्मित ह्रदय रोग से संबंधित गहन चिकित्सा इकाई का लोकार्पण किया। प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही के साथ श्रम रोजगार सेवायोजन मंत्री मनोहर लाल पंथ मन्नू कोरी जिला अध्यक्ष जगदीश सिंह लोधी सदर विधायक जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बेग शामिल रहे।गहन चिकित्सा इकाई के लोकार्पण के समय एक गंभीर हालत में मरीज को भी भर्ती किया गया था और जैसे ही मंत्री के साथ उनका काफिला अस्पताल परिसर से बाहर हुआ मरीज उठकर अपने गंतव्य की ओर चला गया तथा अस्पताल प्रशासन ने गहन चिकित्सा इकाई में ताला डाल दिया।

ये भी पढ़ें - टीबी के खिलाफ उद्यमियों ने शुरू की जंग, श्रमिकों को बचाने के लिए अपनाया ईएलएम

इस बात की खबर जैसे ही कांग्रेसियों को लगी उन्होंने रविवार को जिला अस्पताल परिसर में जोरदार हंगामा कर प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में कांग्रेस के पूर्व मंत्री प्रदीप जैन आदित्य भी शामिल रहे। जैसी ही कांग्रेसियों की हंगामे की खबर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन को लगी वैसे ही सदर एसडीएम गजल भारद्वाज कोतवाल आलोक सक्सेना डॉ अमित चतुर्वेदी डॉ. बख्सी तथा पुलिस बल मौके पर पहुंचा और कांग्रेसियों को समझाने बुझाने का प्रयास किया।

इस मामले में जहां एक और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने अस्पताल प्रशासन के साथ-साथ जिला प्रशासन एवं सरकार पर जनता को लॉलीपॉप देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अस्पताल प्रशासन के साथ-साथ सरकार भी जनता को लॉलीपॉप देने का काम कर रही है। जनता की नजरों में हृदय रोग संबंधी यूनिट तो शुरू करा दी मगर लोकार्पण के बाद उस में ताला डाल दिया गया।

ये भी पढ़ें - यूपी के इस जिले में उतरेगा सीएम योगी का उड़न खटोला, दो दिवसीय प्रवास पर रहेंगे मुख्यमंत्री

चिकित्सीय परीक्षण करेंगे डॉक्टर

सदर एसडीएम गजल भारद्वाज ने बताया कि जिस यूनिट का लोकार्पण किया गया था वह रेगुलर यूनिट नहीं है। यदि कोई मरीज हार्ट से संबंधित बीमारी लेकर आता है तो सबसे पहले वह इमरजेंसी वार्ड में जाएगा वहां पर डॉ उसका चिकित्सीय परीक्षण करेंगे और अगर इस यूनिट की उस मरीज को जरूरत होगी तो उसे यहां ट्रांसफर किया जाएगा। उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि यह केवल एक डॉक्टर के सहारे संचालित की जानी है क्योंकि स्टाफ की कमी है इसीलिए इस यूनिट को सुचारू रूप से संचालित नहीं किया जा रहा। हां मगर कुछ दिनों में स्टाफ मैनेज होते ही इस को सुचारू शुरू कर दिया जाएगा।