स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घोषणा पत्र व खतौनी नहीं तो सट्टा संचालन नहीं, आबकारी विभाग ने दिए सख्त निर्देश

Neeraj Patel

Publish: Aug 10, 2019 20:04 PM | Updated: Aug 10, 2019 20:03 PM

Lakhimpur Kheri

कलेक्ट्रेट सभागार में गन्ना एवं आबकारी विभाग के अधिकारियों से बैठक कर मांगी जानकारियां

लखीमपुर-खीरी. प्रमुख सचिव आबकारी/चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग संजय आर. भूसरेड्डी ने कलेक्ट्रेट सभागार में गन्ना एवं आबकारी विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की और जनपद में दोनों विभागों की अद्यतन स्थिति की पूरी जानकारी प्राप्त की। सर्वप्रथम उन्होंने गन्ना विभाग की समीक्षा करते हुए गन्ना सर्वेक्षण घोषणा पत्र व खतौनी मिलान की बारीकी से समीक्षा की और साथ ही उन्होंने पर्ची निर्गमन की पूर्ण पारदर्शी व्यवस्था को सफल बनाने हेतु कृषकवार गन्ना सर्वे का क्षेत्रफल राजस्व भूमि का आधार पर मिलान करने का निर्देश दिया।

ये भी पढ़ें - दफ्तर में पाए गए गैर हाजिर, तो सीएम योगी ने किया 10 जिलाधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी

दिए यह निर्देश

घोषणा पत्र व राजस्व भू अभिलेख के आधार पर गन्ना क्षेत्रफल के मिलान की समीक्षा करते हुए अब तक की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया तथा यह कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश देते हुए स्पष्ट किया कि घोषणा पत्र व खतौनी नहीं तो सट्टा संचालन नहीं। उन्होंने बताया कि जिला योजना व अन्य योजनाओं के अन्तर्गत शासन द्वारा जारी धनराशि शीघ्र डीबीटी के माध्यम से पात्र किसानों के खाते में भेज दी जाए। जिससे कि कृषकों को समय से अनुदानित धनराशि का लाभ मिल सके। उन्होंने गन्ने के साथ सह फसल करने वाले कृषकों का पंजीयन ई-नाम व ई-रकम पर कराने के निर्देश दिए।

ज्ञातव्य है कि ई-नाम व ई-रकम पर पंजीकृत कृषक राष्ट्रीय कृषि बाजार मूल्य के अंर्तगत अपनी फसल का उच्चतम मूल्य प्राप्त करते है। इसी प्रकार आबकारी विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में उन्होंने निर्देश दिया कि आबकारी दुकाने सुबह 10 से रात 10 बजे तक ही खुलें। पंजाब व हरियाणा की तरफ से आने वाली अवैध शराब पर पूर्णत: अंकुश लगाया जाए। ओवर रेटिंग किसी भी दशा में न हों। दबिश के दौरान पकड़े गे व्यक्तियों पर धारा 272, 273 व 60 क के तहत अभियोग पंजीकृत हो।

ये भी पढ़ें - सोमवार को अकीदत के साथ मानाया जाएगा ईद-उल-अजहा का त्यौहार

ये लोग रहे मौजूद

इसके साथ ही कच्ची शराब किसी भी दशा में न बनने पाएं। इस कार्य में कार्यरत गरीब लोगों के जॉब कार्ड बनवाए जाएं। लेखपाल, पुलिस और आबकारी सिपाही मिलकर सूचना तंत्र विकसित करेंगे। जिससे अवैध मद्य निष्कर्षण पर नियंत्रण रखा जा सके। इस बैठक में जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक पूनम व मुख्य विकास अधिकारी रवि रंजन समेत गन्ना एवं आबकारी विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।