स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बच्चों में फैल रहे वायरल से बड़े परेशान

Hemant Kumar Joshi

Publish: Sep 19, 2019 10:58 AM | Updated: Sep 19, 2019 10:58 AM

Kuchaman City

कुचामनसिटी. viral spreading among children क्षेत्र में इन दिनों बच्चों में एक वायरल बीमारी फैल रही हे। इस बीमारी में बच्चों को बुखार आना, मुंह में छाले, हाथ-पैरों में लाल दाने बनना आदि लक्षण है। खास कर यह बीमारी मवेशियों में होती है, लेकिन अब यह बीमारी छोटे छोटे बच्चों में भी हो रही है। ऐसे में बच्चों के अभिभावकों को थोड़ी सावधानी रखने की जरूरत है।

viral spreading among children इस बीमारी का जनक पिर्कोना, काक्सेकी एवं एंट्रो वायरस है। जो क्षेत्र के वातावरण में सक्रिय है। इस बीमारी को हैड फुट माउथ बीमारी के नाम से भी जाना जाता है। शहर के सरकारी चिकित्सालय सहित निजी चिकित्सालयों में इस बीमारी से ग्रस्त बच्चों की कतार लगी रहती है। मवेशियों में होने वाली खुरपका-मुंहपका बीमारी के लक्षण भी इस वायरल के तरह प्रतीत हो रहे है। पशु चिकित्सकों का कहना है कि मवेशियों में खुरपका-मुंहपका बीमारी होने पर मवेशियों के मुंह या खुर्रो में छाले हो जाते है। जिसके लिए टीके भी लगाए जाते है। मवेशियों में भी यह बीमारी एक-दूसरे के सम्पर्क में आने से फैलती है।

यह होते है बीमारी के लक्ष्ण
शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. रामलाल चौधरी ने बताया कि बच्चों में यह बीमारी होने पर बच्चे के हल्का बुखार, चिड़चिड़ापन होता है। मुंह में छाले हो जाते है। तथा हथेलिया, पैरों व पेट पर लाल-लाल दाने बन जाते है। बच्चे के मुंह में छाले होने से खाना निगलने में परेशानी होती है। इसके अलावा खुजली भी होती है।

ठीक होने में लगते है 7 से 10 दिन
शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. चौधरी ने बताया कि इस बीमारी को करीब 7 से 10 दिन ठीक होने में लगते है। हालांकि यह बीमारी कोई गंभीर बीमारी नहीं है। लेकिन कई बार बच्चे के अधिक समय तक बुखार रहने के कारण समय रहते उपचार करवाना ही जरूरी है। डॉ. चौधरी ने बताया कि यह बीमारी एक बच्चे में इंफेक्शन होने या खांसी या लार के सम्पर्क में आने से यह बीमारी फैल जाती है।

इनका कहना है
बच्चों में होने वाले इस वायरल में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। यह बीमारी एक दूसरे के सम्पर्क में आने से फैलती है। बच्चों के शरीर पर लाल दाने बनना या मुंह में छाले होने पर चिकित्सक को दिखा लेना चाहिए।
डॉ. रामलाल चौधरी, शिुश रोग विशेषज्ञ