स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शहर का मुख्य चौराहा ही अतिक्रमण की चपेट में

Hemant Kumar Joshi

Publish: Aug 17, 2019 11:43 AM | Updated: Aug 17, 2019 11:43 AM

Kuchaman City

कुचामनसिटी. यहां बुड़सू चौराह निजी बसों का स्टेण्ड बनाए जाने के बाद शहर का सबसे व्यस्ततम चौराहा बन गया है। जहां आम जन की आवाजाही अधिक होने के साथ ही डीडवाना व बुड़सू जाने वाला प्रमुख मार्ग होने से वाहनों की आवाजाही भी अधिक होती है। इसके बावजूद यह चौराहा चारों तरफ से अतिक्रमण की कैद में है।

जिस पर ना तो पालिका की ओर से कोई कार्रवाई की जा रही है और ना ही प्रशासनिक रुप से अतिक्रमण हटाया जा रहा है। नए बनाए गए कॉम्प्लैक्सों में भी पार्किंग होने के बावजूद मुख्य मार्ग पर ही टाइलें लगाकर अतिक्रमण किया गया है।
शहर के मुख्य बस स्टेण्ड पर यातायात का दबाव बढने के बाद पिछले दिनों सभी निजी बसों की आवाजाही बुड़सू चौराहे से शुरु कर दी गई। इसके बाद बुड़सू चौराहे पर ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले लोगों की भीड़ बढ गई साथ ही यहां स्थाई एवं अस्थाई दुकानें भी खुल गई। बसों की आवाजाही होने से यहां टैम्पो व अन्य वाहन भी खड़े होने लगे। ऐसे में यह मार्ग अब अतिक्रमण के कारण सिकुडऩे लगा है। दुकानदारों ने अपनी दुकानों के बाहर मुख्य मार्ग पर टीन शेड लगाने के साथ ही दुकानों से 10-10 फीट तक सीमेंट के फर्श व टाइलें लगाकर आवाजाही अवरुद्ध कर दी है। एक ओर जहां दुकानदारों ने अतिक्रमण कर लिया है वहीं दूसरी ओर हाल ही बनाए गए कॉम्प्लेक्स मालिकों ने भी पार्किंग की व्यवस्था होने के बाद मुख्य मार्ग पर टाइलें लगाकर सडक़ पर ही पार्किंग शुरु कर दी है।

कॉम्प्लेक्स संचालक बने अतिक्रमी

पालिका के नियमों को ताक में रखकर बनाए गए कॉम्प्लैक्स संचालक भी अतिक्रमण करने में पीछे नहीं है। चौराहे पर पिछले दिनों ही बनाए गए प्रेरणा टॉवर सहित अन्य कॉम्प्लैक्स संचालक सडक़ पर टाइलें लगाकर यहां अवैध तरीके से पार्किंग बना ली है। जिससे मुख्य सडक़ सिकुड़ गया है। जबकि बुड़सू चौराहे पर वर्तमान में 100 फीट से अधिक की रोड है। इसके बावजूद यहां मार्ग महज 40 फीट चौड़ा बचा है।

शाम के समय जाम के हालात

बुड़सू चौराहे पर वाहनों की आवाजाही अधिक होने के साथ ही निजी बसों का ठहराव होने के चलते यहां शाम के समय जाम के हालात बन जाते है। जिससे आम जन को काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। गौरतलब है कि यहां बुड़सू रोड़ पर कई निजी चिकित्सालय होने के चलते एंबुलेंस की आवाजाही भी प्रभावित होती है। जिससे मरीज परेशान होते हैं।
इनका कहना-
निजी बसों की आवाजाही होने के बाद बुड़सू चौराहे पर भार बढा है। अतिक्रमण पर शीघ्र ही कार्रवाई की जाएगी।
श्रवणराम चौधरी
अधिशासी अधिकारी, कुचामन