स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

करोड़ों के सामान से सजा बाजार, ग्राहकों का इंतजार

Hemant Kumar Joshi

Publish: Oct 18, 2019 16:25 PM | Updated: Oct 18, 2019 16:25 PM

Kuchaman City

कुचामनसिटी. Market decorated of goods, waiting for customers

दीपावली का स्वागत करने के लिए मार्केट तैयार है। इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम हो या ज्वैलरी, कपड़े हो या पटाखे सभी की दुकानें सज गई है। बिक्री के लिए लाखों का माल दुकानों पर सज गया है। व्यापारियों की माने तो, दीवाली पर अच्छी बिक्री होने की आशा है। लेकिन अभी तक ग्रामीण परिवेश के ग्राहकों की आवक नहीं होने से बाजार सूने पड़े हैं।

दीवाली में महज 10 दिन शेष रह गए हैं। Market decorated of goods, waiting for customers दीपोत्सव पर करीब 10 करोड़ तक का कारोबार होने की संभावनाएं है। हालांकि उपज की स्थिति बहुत ज्यादा अच्छी नहीं रही है। इसलिए व्यापार प्रभावित भी होने की आशंका है। शहर के व्यापारियों में मनोज शेखराजका, महेश रामचंद्रका एवं बनवारी कुमावत से बातचीत हुई तो उनका कहना था कि ग्राहकों के लिए बाजार तो सज गए हैं। अब केवल ग्राहकों का ही इंतजार है। शहर में शुक्रवार को राजस्थान पत्रिका की टीम ने व्यापारियों से बातचीत कर बाजार की मंदी व तेजी को समझने का प्रयास किया, तो पता चला कि दिल्ली एवं मुंबई के तर्ज पर कई प्रकार की नई वैरायटियों से सज चुके हैं।

सजी दुकानें, इंतजार
इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम के दुकानदार बनवारी कुमावत ने बताया कि दीवाली को ध्यान में रखते हुए एलईडी, टीवी, प्रिज व अन्य लाखों के आईटम्स मंगा लिए हैं। हालांकि अभी कोई विशेष बिक्री तो नहीं हुई है। बाजार में लगभग सभी महंगी चीजों पर जीरो प्रतिशत फाइनेंस की सुविधा भी मिल रही है। ऐसे में दीवाली पर ज्यादा बिक्री होने की आशा है।

लुभाने लगी ज्वैलरियां

दीवाली को ध्यान में रखते हुए बाजार में ज्वैलर्स की दुकानों पर विभिन्न प्रकार के फेंसी आभूषण भी ग्राहकों का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। व्यापारियों का कहना है कि विभिन्न डिजाइनों में ज्वैलरियां जरूर हैं, लेकिन फैंसी आइटम्स तो ग्राहकों को ध्यान में रखकर ही बनते हैं। अभी तो परंपरागत ज्वैलरी ही दुकानों पर ज्यादा है। बिक्री की स्थिति पर दीवाली के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

मुंबई की तर्ज पर फैशन यहां भी

कपड़ा बाजार के दुकानदारों ने बताया कि राजस्थानी एवं पाश्चात्य परिधानों को मंगवा कर दुकानें सजा ली गई है। ग्राहकों की रूचि के हिसाब से दोनों ही प्रकार के कपड़े उपलब्ध हैं। राजस्थानी परिधानों में लगभग सभी प्रकार की वैरायटियां हैं। इसी तरह पाश्चात्य परिधान भी उपलब्ध हैं। दीवाली पर कपड़े की भी लाखों की बिक्री होने की संभावना है। व्यापारी राजेश जैन ने बताया कि ग्राहकी तो अच्छी ही चल रही है। दीवाली पर इसमें निश्चित रूप से और ज्यादा बढ़ोतरी होगी।

पटाखे व बर्तन भी सजे
शहर में पटाखे की दुकानें भी सज चुकी हैं, लेकिन इस बार चाइनीज माल गायब नजर आया। पटाखा व्यापारी दीपक डालूका व मुरली स्नेही ने बताया कि अभी तो कोई खास ग्राहकी नहीं है, फिर भी कुचामन में करीब एक करोड़ रुपए तक का पटाखा कारोबार होने की संभावना है। इसी तरह बर्तन व्यापारी ने भी लाखों में अच्छी ग्राहकी होने की उम्मीद जताई है। दीवाली के बाद शादियां होने के होने के कारण बिक्री और भी ज्यादा बढ़ेगी। यही नहीं, बाजार में विभिन्न प्रकार खाद्य सामग्रियां भी सज चुकी हैं। इन्हें बस ग्राहकों का इंतजार है। ऑटोमोबाइल्स में तो कइयों ने धनतेरस के लिए अभी से बुकिंग करा रखी है। इसमें भी कारोबार ठीक-ठाक होने की उम्मीद जताई गई है। बिजली की झालरों में भी इस बार चाइनीज माल गायब है। दुकानदारों ने भी देशी उत्पादों को तरजीह दी है, हालांकि कुछ फुटकर दुकानों पर चाइनीज की झलक तो नजर आई, लेकिन उनकी संख्या ज्यादा नहीं रही।