स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कुचामन के चिकित्सालय में 3 करोड़ से बढेगी सुविधाएं

Hemant Kumar Joshi

Publish: Dec 25, 2019 10:56 AM | Updated: Dec 25, 2019 10:56 AM

Kuchaman City

कुचामनसिटी. शहर के राजकीय चिकित्सालय में भवन विस्तार एवं नवीनीकरण को लेकर कार्य प्रगति पर है। करीब तीन करोड़ की लागत से विभिन्न वार्डो के लिए निर्माण कार्य चल रहा है। एनआरएचएम की ओर से दिए गए बजट करीब 3 करोड़ की लागत से यह विकास कार्य होंगे।

चिकित्सालय प्रभारी डॉ. शकील राव ने बताया कि आधुनिक ओपीडी ब्लॉक जिसमें नो कमरे व रिसेप्सन का निर्माण होगा। इसके अतिरिक्त चार वार्ड व एक रेम्प, लेबर रूम व समूचे चिकित्सालय का नवीनीकरण कार्य होगा। वही अतिसुविधाजनक नया ऑपरेशन थियेटर भवन का भी निर्माण कार्य करवाया जा रहा है। संभवत: तीन-चार माह में सभी प्रकार के निर्माण कार्य पूर्ण कर लिए जाएंगे।
गौरतलब है कि जिले का दूसरा 150 बैड का चिकित्सालय है। इस चिकित्सालय में प्रति माह 300 से अधिक प्रसव होते है। तथा 100 से अधिक ऑपरेशन किए जाते है। लेकिन इस चिकित्सालय में सबसे बड़ी कमी ब्लड बैंक व कई रिक्त पदों की है। हालांकि ब्लड बैंक की घोषणा विधायक महेन्द्र चौधरी ने की है तथा ब्लड बैंक का प्रस्ताव भी सचिवालय में भेजा गया है। चिकित्सालय प्रशासन की माने तो कभी भी ब्लड बैंक की स्वीकृति होने की सुचना मिल सकती है। ब्लड बैंक की स्थापना को लेकर चिकित्सालय प्रशासन की ओर से भी तैयारी की जा रही है।
राजकीय सुविधाओं की एक नजर
* राजकीय चिकित्सालय 21 चिकित्सक कार्यरत
* सुविधाजनक इमरजेंसी
* एक माह में होती है 1000 से अधिक सोनोग्राफी जांच।
* चिकित्सालय में 94 प्रकार की जांचे उपलब्ध।
* करीब 400 प्रकार की नि:शुल्क दवाईया उपलब्ध।
* महिला नसबंधी, अपेडिक्स, लाइपोमा, सिजेरियन डिलेवरी, ईएनटी, ऑर्थोपेडिक ऑपरेशन जैसी सुविधाएं।
* प्रति दिन 1200-1500 मरीजों का आउटडोर।
* एक साथ पांच प्रसव की सुविधा।
इन सुविधाओं का भी होना चाहिए विस्तार
चिकित्सालय में ऐसी कई मशीनों की आवश्यकता है जो इस चिकित्सालय में होनी चाहिए। हालांकि चिकित्सालय प्रशासन की ओर से आवश्यकतानुसार मशीनों का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार के पास भेजा है। चिकित्सालय प्रभारी डॉ. शकील राव ने बतया कि चिकित्सालय में एम्बुलेंस की आवश्यकता है। इसके अतिरिक्त सोनोग्राफी मशीन, सीबीसी मशीन, सी आर्म मशीन, ईसीजी मशीन, कार्डिक केयर एम्बुलेंस, पल्स ऑक्सीमीटर मशीन की अतिआवयकता है। डॉ. राव ने बताया कि सभी सुविधाओं को बढ़ाने को लेकर उक्त मशीनों के प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार के पास भेजा गया है। वही विधायक महेन्द्र चौधरी को भी अवगत करा दिया गया है।
चिकित्सालय प्रभारी डॉ. राव ने बताया कि चाइल्ड केयर (एनबीएसयू) में वर्तमान में छह बैड है। जबकि शहर व आसपास के क्षेत्र को देखते हुए इस सुविधा में बढ़ोतरी करके एनबीएसयू को अपग्रेड करके एसएनएसयू करने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि यह सुविधा बढ़ जाने से छह बैड की जगह दस से अधिक बैड हो जाएंगे।

प्रवासी सम्मेलन से भी उम्मीद
आगामी 26 से 29 दिसम्बर तक कुचामन विकास समिति की ओर से प्रवासी सम्मेलन आयोजित होगा। जिसमें शहर के कई व्यावसायी प्रवासी शिरकत करेंगे। इस प्रवासी सम्मेलन से भी चिकित्सालय को खासा उम्मीद है। चिकित्सालय प्रशासन ने कुचामन विकास समिति को पत्र लिखकर चिकित्सकीय सुविधाओं के विस्तार में सहयोग कराने की मांग की है। चिकित्सालय प्रभारी डॉ. राव ने बताया कि चिकित्सालय के आई हॉस्पिटल के ऊपर वार्ड का निर्माण, चिकित्सालय के मुख्य प्रवेश द्वार का पुर्नत्थान, सी आर्म मशीन की आवश्यकता, कार्डियक केयर एम्बुलेंस, चिकित्सालय के पार्क का विस्तार को लेकर आर्थिक सहयोग देने की मांग की है।

150 बैड के अनुपात में पद नहीं
कुचामन का राजकीय चिकित्सालय कहने को तो 150 बैड का है, लेकिन 150 बैड के अनुपात में पद सृजित नहीं है। जिले में 150 बैड का चिकित्सालय लाडनूं व कुचामन में ही है। लाडनंू व कुचामन के चिकित्सालय की तुलना करें तो कुचामन के राजकीय चिकित्सालय में बहुत संख्या में पदों की कमी खल रही है।

इनका कहना है
राजकीय चिकित्सालय में करीब तीन करोड़ की लागत से निर्माण कार्य करवाए जा रहे है। कई मशीनों की सख्त आवश्यकता है, जिनके प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजा गया है। कुचामन विकास समिति से भी पांच प्रकार की सुविधाओं में आर्थिक सहयोग देने की मांग की है।
डॉ. शकील राव
प्रभारी, राजकीय चिकित्सालय, कुचामन सिटी

[MORE_ADVERTISE1]