स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फर्जी नर्स बनकर अस्पतालों से गहने उड़ाने वाली शातिर महिला को पुलिस ने दबोचा, उगले कई राज

Suraksha Rajora

Publish: Dec 13, 2019 19:06 PM | Updated: Dec 13, 2019 19:06 PM

Kota

अस्पतालों में इलाज के लिए आनेवाली ग्रामीण महिलाओं से फर्जी नर्स बनकर गहने रुपए उड़ानेवाली शातिर महिला

कोटा. कैथून पुलिस ने फर्जी नर्स बनकर अस्पतालों से गहने उड़ाने वाली महिला को गुरुवार को बूंदी जेल से प्रॉडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया। आरोपी महिला ने बूंदी और रावतभाटा के अस्पतालों में भी ऐसी कई वारदातें करना कबूला है। आरोपी महिला को शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।


कोटा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यन्त ने बताया कि दीगोद के कासमपुर निवासी नेमीचन्?द बैरवा ने 8 अक्टूबर को पत्नी राजेश बाई के साथ कैथून थाने में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट के अनुसार कैथून सीएचसी में वार्ड से किसी अनजान महिला उसकी पत्नी को जांच के बहाने प्रसव कक्ष में ले आई और मंगलसूत्र, झुमकी व चूडिय़ां उतरवा ली।

उसने मंगलसूत्र भी खुलवाया और चिकित्सक को बुलाकर लाने की बात कही और मंगलसूत्र पति को देने की बात कही। इसके बाद महिला मंगलसूत्र लेकर फरार हो गई।
पुलिस ने अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के आधार पर महिला का फोटो लिया और महिला लाडपुरा कोटा के ऊपर निवासी रूकसाना (35) को गुरुवार को बूंदी जेल से प्रोडक्शन वारंट गिरफ्तार पर गिरफ्तार किया।

पूछताछ पर महिला ने अपराध कबूल लिया। महिला से पूछताछ की जा रही है। उसने नंैनवा, कापरेन, बूंदी, रावतभाटा समेत अनेक स्थानों पर चोरी करना कबूला है। करना कबूला। आरोपी महिला को शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

[MORE_ADVERTISE1]