स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मध्यप्रदेश सीमावर्ती क्षेत्रों में खाद की कालाबाजारी, मची मारामारी, कतार में खड़ी किशोरी बेहोश

Suraksha Rajora

Publish: Dec 13, 2019 19:24 PM | Updated: Dec 13, 2019 19:24 PM

Kota

प्रशासन ने झालावाड़ जिले की मध्यप्रदेश सीमा से सटे 15 किमी क्षेत्र में निजी विक्रेताओं की आपूर्ति रोकी

कोटा/ झालावाड़. हाड़ौती में फिर यूरिया के लिए मारामारी मचना शुरू हो गई है। इससे ज्यादा किल्लत झालावाड़ जिले के मध्यप्रदेश की सीमा से सटे क्षेत्र में है। यहां तो स्थिति यह है कि खाद विक्रेता के यहां यूरिया पहुंचते ही गायब हो जाता है। प्रशासन को कालाबाजारी की सूचना मिलने पर झालावाड़ जिले की मध्यप्रदेश से सटी 15 किमी क्षेत्र में निजी खाद विक्रेताओं की आपूर्ति रोक दी है। अब सहकारी समितियों के माध्यम से ही यूरिया का वितरण होगा।

सड़क पर भिखारी की जिंदगी गुजार रहा था ,अपना घर का मिला साथ तो बदला हुलिया

झालावाड़ जिले में यूरिया की मांग तो लगातार बढ़ रही है, लेकिन किल्लत से किसान परेशान हैं। शुक्रवार सुबह डीलर के यहां 420 कट्टे खाद की खेप पहुंची तो किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान लाइन में लगी किशोरी अचेत हो गई। इससे मंडी में कोहराम मच गया। लोगों ने उसे पानी पिलाया, लेकिन लड़की की हालत नहीं सुधरी तो परिजन उसे निजी क्लीनिक ले गए।

जिला प्रमुख के निजी सहायक 25000 रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

घटना के बाद किसानों में आक्रोश फैल गया और भीड़ बेकाबू हो गई। हालात खराब होते देख पुलिस जाप्ता बुलाया। इसके बाद जमीन की नकल व आधार कार्ड से किसानों को एक-एक बैग यूरिया वितरित किया।

[MORE_ADVERTISE1]