स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुजारी को चारपाई से बांध लाठियों से पीट-पीटकर किया अधमरा, मरणासन्न समझ भाग गए हमलावर...

DHIRENDRA TANWAR

Publish: Aug 18, 2019 17:57 PM | Updated: Aug 18, 2019 17:57 PM

Kota

चेचट क्षेत्र के भगवानपुरा हनुमान मन्दिर पर की वारदात, पुलिस ने किया आरोपियों के खिलाफ प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज

चेचट. क्षेत्र के भगवानपुरा हनुमान मन्दिर पर सो रहे पुजारी को शुक्रवार रात तीन जनों ने चारपाई से बांध कर लाठियों से मारपीट कर घायल कर दिया।

बाद में उसे मरणासन्न समझ मौके से फरार हो गए। पुजारी को गंभीर हालत में झालावाड़ जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। मारपीट का कारण आपसी रंजिश बताया गया है। थानाधिकारी अब्दुल हकीम शेख ने बताया कि थाना रायपुर ग्राम रघुनाथपुरा निवासी बालचन्द सुथार (65) एक वर्ष से भगवानपुरा हनुमान मन्दिर पर रहकर पूजा करता है। वह शुक्रवार रात मंदिर परिसर में ही चारपाई पर कंबल ओढ़कर सो रहा था। इसी दौरान करीब डेढ़ बजे वहां आए तीन जनों ने उसके साथ लाठियों से मारपीट शुरू कर दी। आरोपियों ने उससे रुपए देने को कहा। मना करने पर आरोपयिों ने पुजारी को उसकी धोती से चारपाई से बांध दिया और फिर मारपीट कर अधमरा कर भाग गए।
सुबह चला पता

Read more : लाठियों से मारा, पीठ पर मिले पट्टों के निशान, बेरहमी से की युवक की हत्या....


इस वारदात का पता शनिवार सुबह उस समय चला जब मिन्याखेड़ी निवासी एक दर्शनार्थी दर्शन करने पहुंचा। दर्शनार्थी ने भोलू गांव में जाकर ग्रामीणों को घटना बताई। बाद में ग्रामीण ट्रैक्टर ट्रॉली में डालकर पुजारी को मोड़क चिकित्सालय ले गए। वहां से उसे झालावाड़ रैफर कर दिया। उसके सिर में दो गम्भीर, ललाट पर तीन चार चोटेंं आई हैं। बांए हाथ में भी फ्रैक्चर है।

Read more : कैथून में तबाही का मंजर! ...देखिए तस्वीरें.....

यह बताई रंजिश
पुजारी ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि एक आरोपी मिन्याखेड़ी निवासी गुड़मल उर्फ बद्रीलाल मीणा है। उसके साथ दो जने और थे। पुलिस ने बताया कि आरोपी गुड़मल पूर्व में मन्दिर की पूजा करता था। अभी भगवानपुरा के मॉल के खेतों की रखवाली करता है। उसको रंजिश यह थी कि पुजारी भी मन्दिर पूजा के साथ आस-पास के चार पांच खेतों की रखवाली करता है। पुलिस ने पुजारी की रिपोर्ट पर आरोपियों के खिलाफ प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।