स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कहीं गर्मी तक उजड़ न जाए सदानीरा उजाड़....!

Anil Sharma

Publish: Nov 11, 2019 00:09 AM | Updated: Nov 11, 2019 00:09 AM

Kota

एनिकट टूटने से व्यर्थ बह रहा रोजाना हजारों लीटर पानी....अब तो नदी का दिखने लगा है तल....किसानों व पशुपालकों की बढ़ सकती है परेशानी

सांगोद. उजाड़ नदी पर बने छांटा की पुलिया एनिकट का एक हिस्सा काफी समय से क्षतिग्रस्त हो रहा है। इससे नदी का पानी व्यर्थ रह रहा है। शिकायत के बावजूद प्रशासन एनिकट के क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत नहीं करवा रहा। एेसे ही चलता रहा तो सदानीरा रहने वाली उजाड़ नदी इस बार गर्मी में सूखने की संभावना बन जाएगी। हालात यह हो गए कि कोटा रोड स्थित नदी पर बनी पुरानी पुलिया के एक हिस्से का पानी पूरी तरह बह गया। इससे नदी का तल कई जगह से नजर आने लगा है। उल्लेखनीय है कि कस्बे से एक किलोमीटर दूर उजाड़ नदी पर बने बरसों पुराने छांटा की पुलिया एनिकट से नगरीय क्षेत्र में नदी का पानी भरा रहता है। लेकिन इस बार नदी में बारिश के दिनों में बार-बार उफान से बरसों पुराने एनिकट का एक हिस्सा टूट गया। ऐसे में टूटे हिस्से से रोजाना नदी का पानी व्यर्थ बह रहा है। जिससे नदी के जलस्तर में चिंताजनक गिरावट आ रही है।

नहीं ले रहे सुध
एनिकट के टूटे हिस्से से व्यर्थ बह रहे पानी की समस्या को लेकर गत दिनों क्षेत्रवासी प्रशासनिक अधिकारियों से मिले और एनिकट की मरम्मत की गुहार लगाई। लेकिन, चुनावी शोर में लोगों की समस्या दबकर रह गई। हालत यह है कि उजाड़ नदी का जलस्तर घटता जा रहा है। पुरानी पुलिया के एक मौखे से भी पुलिया के दूसरे हिस्से का पानी व्यर्थ बह रहा है। लोगों का कहना है कि इसी तरह से पानी व्यर्थ बहता रहा तो गर्मी में नदी का जलस्तर काफी नीचे चला जाएगा। जिससे किसानों एवं पशुपालकों को काफी परेशानी हो सकती है।

- नदी पर बने एनिकट की मरम्मत को लेकर शीघ्र ही पालिका प्रशासन को निर्देशित किया जाएगा। पानी व्यर्थ न बहे इसके लिए कदम उठाए जाएंगे।
-संजीव कुमार शर्मा, एसडीएम सांगोद

read more : सफाई पूरी, नहर में पानी छोडऩे की तैयारी...

[MORE_ADVERTISE1]