स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

झालावाड़ जाने वाली ट्रेन का साप्ताहिक संचालन इस वजह से बंद करेगी रेलवे !

Rajesh Tripathi

Publish: Jan 23, 2020 17:42 PM | Updated: Jan 23, 2020 17:42 PM

Kota

सातों दिन झालावाड़ तक सुपरफास्ट ट्रेन चलाने में बाधा, रख रखाव की सुविधा
नहीं होने के कारण रोज नहीं जा सकती

 

 

कोटा. कोटा-श्रीगंगानगर-कोटा सुपरफास्ट का संचालन नियमित रूप से झालावाड़ तक नहीं किया जा सकता। पिछले दिनों दिल्ली में गत ६ दिसम्बर को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और रेल मंत्री की मौजूदगी में हुई बैठक की अनुपालना रिपोर्ट में कोटा मंडल के अधिकारियों ने यह असमर्थता जाहिर की है।

चोरों को रास आ रही लम्बी रातें, फिर गोदाम से
ले उड़े पांच लाख के कृषि उपकरण


अधिकारियों ने अनुपालना रिपोर्ट में अवगत कराया है कि झालावाड़ सिटी अस्थाई टर्मिनल है। इस गाड़ी के रेक का प्राथमिक अनुरक्षण कोटा में होता है। यह ट्रेन सुबह ९.५५ बजे कोटा आती है और वापसी में शाम ५.२० बजे रवाना होती है। एेसे में रख रखाव के लिए पर्याप्त समय नहीं मिलता। अभी यह ट्रेन सप्ताह में तीन दिन चल रही है, लेकिन पूरे सप्ताह इसका संचालन झालावाड़ तक करना संभव नहीं है। अधिकारियों ने यह भी अवगत कराया है कि यदि इस ट्रेन के रेक का रख रखाव श्रीगंगानगर स्टेशन पर होने लग जाए तो इसे झालावाड़ तक नियमित रूप से संचालित किया जा सकता है।

जेके लोन में बच्चों की मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा

उल्लेखनीय है कि जब से ट्रेन का झालावाड़ का विस्तार किया है गया है, इसके रेक का नियमित रख रखाव नहीं किया जा रहा है। तभी से आए दिन इसके कोचों की स्प्रिंग टूटने की घटनाएं हो रही हैं। रेलवे अधिकारियों के अनुसार रामगंजमंडी-भोपाल रेल परियोजना का कार्य प्रगति पर है, इस कारण झालावाड़ सिटी को अस्थाई टर्मिनल के रूप में उपयोग में लिया जा रहा है। यह रेल परियोजना पूरी होने पर इस रेलमार्ग पर अन्य ट्रेनों का संचालन संभव हो सकेगा। लोकसभा चुनाव से पहले गत १३ मार्च २०१९ को इस ट्रेन का विस्तार झालावाड़ तक किया गया था। विस्तार करने से पहले इसके रख रखाव के विकल्पों पर विचार नहीं हो पाया।

[MORE_ADVERTISE1]