स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दिलचस्प मुकाबला: राजस्थान में यहां सरपंच के लिए 7 करोड़पति और 204 लाखपतियों ने ठोकी ताल, गणित बिगाड़ेगा 'तीसरा मोर्चा'

Zuber Khan

Publish: Jan 22, 2020 01:19 AM | Updated: Jan 22, 2020 01:19 AM

Kota

राजस्थान की इस पंचायत समिति में सरपंच की कुर्सी पाने को करोड़पति से लेकर लखपतियों की भरमार है। लेकिन, इनकी गणित बिगाडऩे को तीसरे मोर्चा भी मैदान में है।

सुल्तानपुर. पंचायतीराज चुनाव ( panchayati raj elections ) के तहत सुल्तानपुर पंचायत समिति ( Sultanpur Panchayat Samiti ) क्षेत्र की 33 ग्राम पंचायतों में सरपंच एवं वार्ड पंच के चुनाव बुधवार को होंगे। ( Sarpanch and Ward Panch elections ) मतदाता अपने वोटों की ताकत से गांव की सरकार चुनेंगे। इस चुनाव में सरपंच पद के लिए लखपति से लेकर करोड़पति प्रत्याशी तक मैदान में हैं। कई प्रत्याशी ऐसे भी हैं जिनके पास एक रुपए का भी बैंक बैलेंस नहीं है फिर भी अन्य प्रत्याशियों को पटखनी देने के प्रयास में है। लखपति प्रत्याशियों की तो भरमार है। 33 ग्राम पंचायतों में सरपंच पद के 245 प्रत्याशियों में से करीब 204 प्रत्याशी लखपति हैं। जबकि 7 प्रत्याशी करोड़पति हैं। 34 प्रत्याशी ऐसे हैं जिनके पास एक रुपए की भी सम्पति नहीं है।

Read More: पंचायतीराज चुनाव: सरपंच प्रत्याशी जीप में ले जा रहा था 2 पेटी अवैध शराब, पुलिस ने दबोचा

यह है करोड़पति प्रत्याशी
कार्यालय में दिए ब्यौरे के अनुसार किशोरपुरा से सरपंच का चुनाव लड़ रहे ओमप्रकाश शर्मा ने 2 करोड़ 13 लाख व परमानन्द पुत्र मोतीलाल ने भी सम्पति कॉलम में 1 करोड़ 16 लाख की सम्पति होना बताया है। इसी तरह भांडाहेड़ा से घनश्याम पुत्र जगन्नाथ ने 104.65 लाख रूपए, भौरां से अमृता कंवर ने 184.22 लाख, संतोष पत्नी हेमराज ने 215.65 लाख, खेड़लीतंवरान से रामप्यारी बाई ने 1.50 करोड़, तथा कोटसुआं से ममता बाई पत्नी कन्हैयालाल ने 1.04 करोड़ की संपति बताई है।

Read More: NRC-CAA के खिलाफ 6 दिन से धरने पर बैठी हजारों महिलाएं, शहर काजी बोले- कोटा की बेटियां लिखने जा रही इतिहास

कृषि से बने लखपति
इस बार चुनाव आयोग के निर्देश पर पहली बार सरपंच पद के प्रत्याशियों से भी सम्पति का ब्यौरा मांगा गया है। सूचना में प्रत्याशियों की चल-अचल सम्पति के साथ परिजनों के पास नकद एवं अन्य साधनों से प्राप्त आय का ब्यौरे एवं आपराधिक रिकॉर्ड तक की भी जानकारी मांगी गई है। प्रत्याशियों ने सम्पति का ब्यौरा प्रस्तुत किया है। जिसमें अधिकांश लखपति प्रत्याशियों ने अपनी आय का जरिया कृषि बताया है।

Read More: मौत बनकर सड़कों पर दौड़ा बेकाबू लोडिंग वाहन, आधा दर्जन लोगों को कुचला, महिला की दर्दनाक मौत

स्वच्छ एवं साफ छवि
पंचायतीराज चुनाव में क्षेत्र में इस बार सरपंच पद पर कोई आपराधिक छवि वाला प्रत्याशी नहीं है। यानी पंचायतों में चुनकर आने वाले प्रत्याशी साफ एवं स्वच्छ छवि के होंगे। कार्यालय में दी गई आपराधिक मामलों से सम्बंधित जानकारी में किसी भी प्रत्याशी ने अपने ऊपर कोई आपराधिक मामला नहीं बताया। ऐसे में राजनीति में स्वच्छ छवि वाले प्रत्याशी चुनने की लोगों की मंशा पूरी होती दिख रही है।

[MORE_ADVERTISE1]