स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

निगम बैकफुट पर, सोनू निगम और गुरु रंधावा का कार्यक्रम रद्द , महंगे कलाकारों को बुलाने का फैसला बदला

Shailendra Tiwari

Publish: Sep 22, 2019 02:11 AM | Updated: Sep 22, 2019 02:11 AM

Kota

मेला समिति ने लिया सोनू निगम व गुरु रंधवा को नहीं बुलाने का फैसला

 

कोटा. तीन दिन पहले हुई मेला समिति की बैठक में 126वें राष्ट्रीय दशहरा मेले की सिने संध्या में बॉलीवुड गायक सोनू निगम को 58 लाख में और पंजाबी नाइट में गुरु रंधावा को 40 लाख में बुलाने का निर्णय अंतत: निगम को बदलना ही पड़ा। घोषणा के बाद से ही लोग मेला समिति के निर्णय पर सवाल उठा रहे थे। लोगों का विरोध था कि एक ओर शहर में सैंकड़ों लोग बाढ़ का दंश झेल रहे हैं, वहीं मेला समिति लाखों खर्च कर कलाकारों को बुलाने पर आमादा है। प्रतिपक्ष नेता व कांग्रेसी पाषदों ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर दखल देने का का आग्रह किया था। इसके बाद मेला समिति ने आनन-फानन में अपना फैसला बदल दिया। अब सोमवार को फिर से मेला समिति की बैठक बुलाई गई है।

निगम चुनाव..जिला अध्यक्ष त्यागी बोले, कांग्रेस
का टिकट
चाहिए तो करना होगा ये काम
पार्षद महेश गौत्तम लल्ली ने बताया कि जनभावनाओं को देखते हुए मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रमों में कम दरों वाले कलाकारों को बुलाया जाएगा। सोशल मीडिया पर भी दो दिनों से लगातार मेला समिति के निर्णय की निंदा की गई। भाजपा के पार्षदों ने भी मेला समिति के निर्णय पर सवाल उठाते हुए कहा था कि बाढ़ की त्रासदी को देखते हुए महंगे कलाकार नहीं बुलाए जाने चाहिए थे। महापौर महेश विजय ने कहा कि बाढ़ पीडि़तों को कंबल व अन्य आवश्यक सामग्री वितरित करने के लिए उपायुक्त कीर्ति राठौड़ से 3 दिन पहले ही चर्चा हो गई है। अब मेला समिति अध्यक्ष ने मेला समिति के सदस्यों से आग्रह किया है कि कलाकारों के नाम पर एक बार फिर पुनर्विचार किया जाए।

कोटा में बरसे भाजपा नेता, 'कांग्रेस ने निकाय चुनाव में फायदे के लिए अपने हिसाब से किया वार्डों का परिसीमन'

लोगों के आक्रोश को देखते हुए कम दर वाले कलाकारों को बुलाया जाएगा। इससे होने वाली बचत की राशि बाढ़ पीडि़तों को दी जाएगी।

राममोहन मित्रा, अध्यक्ष, मेला समिति, नगर निगम कोटा