स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस ने व्यापारी को रातभर थाने में बिठाए रखा और चोर उड़ा ले गया रुपयों से भरा बैग, अब खाकी के उड़े होश

Zuber Khan

Publish: Oct 21, 2019 15:57 PM | Updated: Oct 21, 2019 15:57 PM

Kota

कोटा पुलिस के उस वक्त होश उड़ गए जब थाने के बाहर से ही व्यापारी की कार से चोर रुपयों से भरा बैग चुरा ले गया।

 

कोटा. पूछताछ के नाम पर कुछ व्यक्तियों को उनकी कार समेत नयापुरा थाने लेकर पहुंची पुलिस के होश उस समय उड़ गए, जब थाने के बाहर से खड़ी कार से किसी बदमाश ने कांच तोड़कर 85 हजार रुपए व अन्य आवश्यक कागजात से भरा बैग चुरा लिया। जब पूछताछ के लिए बैठे लोगों ने इस बारे में पुलिस को रिपोर्ट दर्ज करने के लिए कहा, तो पुलिस ने आनन-फानन में उनसे एक खाली कागज पर साइन करवाकर उन्हें छोड़ दिया। मामला यहीं नहीं रूका, बैग चुरा ले गए बदमाश ने बैग में रखे एटीएम से दो बार में नयापुरा क्षेत्र से ही एटीएम से 10,200 रुपए निकाल लिए। इसके बावजूद कार्रवाई तो दूर रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की। इस पर पीडि़त ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में मामले की शिकायत की।

Read More: बड़ी खबर: राजस्थान सरकार ने प्रदेश में 2 हजार कॉलेज किए फ्रीज, सैकड़ों विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति अटकी

बारां जिले के छीपाबड़ौद के सारथल निवासी प्रेमचंद नागर ने बताया कि 17 अक्टूबर को वह कार से गांव के प्रेमचंद व माधोलाल के साथ पूरसिंह को सारथल हाउस छोडऩे आए थे। पूरसिंह को छोड़ते समय वहां बाइक पर दो पुलिसकर्मी आए और माधोलाल को कार समेत थाने ले गए। पुलिस ने उनका मोबाइल, रुपए, गाडी की चाबी ले लिए और उन्हें थाने में रात भर बैठाए रखा।

पीडि़त के स्वयं को निर्दोष बताते हुए छोडऩे की बात कही तो पुलिसकर्मियों ने उसे बैरक में बंद करने की धमकी दी। जब सुबह पीडि़त ने खुद का ब्लड प्रेशर का रोगी बताते हुए गोली की आवश्यकता बताई तो पुलिसकर्मियों ने परिजनों को बुलाने के लिए फोन दिया। इस पर उसने उसकी बहन को फोन किया और थाने के बाहर खड़ी कार से दवाई लाने के लिए कहा। जब उसकी बहन थाने पहुंची, तो उसने पाया कि कार का ड्राइवर सीट की खिड़की का कांच टूटा हुआ है तथा गाड़ी में से बैग चोरी हो चुका है। बैग में करीब 85 हजार रुपए, फर्म और स्वयं की चेक बुक, एटीएम कार्ड, पेस्टीसाइड के लाइसेंस, खाद बांटने की पोस मशीन थी। इस पर जब उन्होंने पुलिस को चोरी की रिपोर्ट लिखने को कहा तो पुलिस ने उनसे एक खाली कागज पर साइन करवाकर उन्हें छोड़ दिया। इसके अगले ही दिन बदमाश ने उनके एटीएम से 10 हजार व उसके अगले दिन शेष 200 रुपए भी निकाल लिए। इसके बावजूद पुलिस मामले की रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रही। ऐसे में खाद बांटने की मशीन के चोरी होने से उसका व्यापार अटक गया है।

shocking news: रामगंजमंडी में पान मसाले की कीमत एक करोड़, कैसे पढि़ए खबर

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में दिया परिवाद
थाने में कार्रवाई नहीं होने पर पीडि़त ने सोमवार को पुलिस अधीक्षक को परिवाद सौंपकर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने व उनके बैग व एटीएम से रुपए निकालने वाले बदमाश को गिरफ्तार कर माल बरामद करने की मांग की।