स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

विधायक पति बोले-मुख्यमंत्री से लेकर प्रधानमंत्री तक को लिखे 18 पत्र, फिर भी गुंजल के खिलाफ नहीं हुई कार्रवाई

Zuber Khan

Publish: Nov 22, 2019 09:00 AM | Updated: Nov 22, 2019 00:49 AM

Kota

विधायक चन्द्रकांता मेघवाल ने कहा कि गुंजल ने जिस तरह मुझे भरी सभा में सार्वजनिक रूप से अपमानित किया था, वह मैं कभी भूल नहीं सकती।

कोटा. पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल ( Former MLA Prahlad Gunjal ) के खिलाफ नयापुरा थाने में प्रकरण दर्ज होने के बाद विधायक चन्द्रकांता मेघवाल ( MLA Chandrakanta Meghwal ) ने कहा कि गुंजल ने जिस तरह मुझे भरी सभा में सार्वजनिक रूप से अपमानित किया था, वह मैं कभी भूल नहीं सकती। उसने न केवल मेरा अपमान किया, ( Public Insult ) बल्कि महिला वर्ग को भी अपमानित किया है। ऐसे व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

Read More: देखिए, बाहुबली पूर्व विधायक गुंजल का खाकी पर खौफ, केस दर्ज होने के बावजूद मामला छुपाने में जुटी रही पुलिस

विधायक मेघवाल के पति नरेन्द्र मेघवाल ने बताया कि पत्नी के सार्वजनिक अपमान से मैंं आज तक आहत हूं। गुंजल के खिलाफ कार्रवाई के लिए एक साल में मुख्यमंत्री से लेकर प्रधानमंत्री ( PM Modi ) तक पत्र लिखा, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। कार्रवाई के लिए 18 पत्र लिख चुका हूं। भाजपा को भी महिलाओं की इज्जत नहीं करने वाले पूर्व विधायक को तत्काल पार्टी से निकाल देना चाहिए।

तब गुंजल को निकाल दिया था पार्टी से
गुंजल ने भाजपा शासन में तत्कालीन सीएमएचओ को एक कर्मचारी के तबादले को लेकर धमकी थी। इस धमकी का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसकी गूंज दिल्ली तक पहुंच गई थी। इसके बाद भाजपा हाईकमान ने गुंजल को पार्टी से निकाल दिया था।

Read More: बूंदी की फैक्ट्रियों में बिना गन्ने के तैयार हो रहा सैकड़ों टन जानलेवा गुड़, साबुन बनाने वाली चीजों से बन रहा गुड़

एससी/एसटी आयोग को भेजी जानकारी
विधायक चन्द्रकांता मेघवाल के परिवाद पर विधिक राय के आधार पर पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल के खिलाफ नयापुरा थाने में प्रकरण दर्ज कर जांच के लिए सीआईडीसीबी को भेजा है। इसके साथ ही एससी/एसटी आयोग को भी इस मामले की जानकारी भेजी गई है।
-भगवत सिंह हिंगड, वृताधिकारी

[MORE_ADVERTISE1]